पब्लिक ट्रांसपोर्ट मिलने से नहीं लगानी होगी ऑटो-ई रिक्शा की दौड़

पब्लिक ट्रांसपोर्ट मिलने से नहीं लगानी होगी ऑटो-ई रिक्शा की दौड़

नोएडा प्लान के अनुसार तो ग्रेटर नोएडा वेस्ट (Greater Noida West) मेट्रो ट्रेन का काम वर्ष 2021 में प्रारम्भ हो जाना था, लेकिन एक के बाद एक किसी न किसी रुकावट के चलते मेट्रो का काम प्रारम्भ नहीं हो सका आखिर में मेट्रो ट्रेन (Metro Train) की फाइल पीएमओ (PMO) ऑफिस में आकर रुक गई है लेकिन अब पीएमओ से भी हरी झंडी मिलती दिख रही है जानकारों की मानें तो 15 से 20 दिन में फाइल को स्वीकृति मिल जाएगी इसके बाद सितम्बर से काम प्रारम्भ होने की भी आशा है अड़चनों के चलते पहले ही यह काम करीब डेढ़ वर्ष से अधिक लेट चल रहा है केन्द्र गवर्नमेंट द्वारा मेट्रो की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) में संशोधन कराए जाने के चलते काम लेट हो रहा है

5 मेट्रो स्टेशन से होगी ट्रेन की शुरुआत

गौरतलब रहे नोएडा सेक्टर-51 से ग्रेटर नोएडा वेस्ट के मेट्रो का रूट 15 किमी का है, लेकिन आरंभ केवल 5 मेट्रो स्टेशन से होगी सभी 5 स्टेशन सेक्टर-122, सेक्टर-123, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-4, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-2 और ईकोटेक-12 ग्रेटर नोएडा वेस्ट को आपस में जोड़ेंगे हालांकि इस पूरे रूट पर 9 स्टेशन तैयार होने हैं ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो लाइन के प्रारम्भ होते ही वेस्ट के सेक्टर ग्रेटर नोएडा की एक्वा लाइन और दिल्ली मेट्रो की ब्‍लू लाइन से भी जुड़ जाएंगे

1100 करोड़ की आएगी मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट की लागत

जानकारों की मानें तो इस पूरे प्रोजेक्ट की लागत करीब 11 सौ करोड़ रुपये आएगी नोएडा सेक्टर-51 से लेकर ग्रेटर नोएडा वेस्ट नॉलेज पार्क 5 तक प्रारम्भ होने वाली मेट्रो रेल का पूरा रूट एलिवेटेड होगा लेकिन अकेले सिविल वर्क पर ही करीब 492 करोड़ रुपये का खर्च आएगा वैसे इस प्रोजेक्ट को 2019 में ही स्वीकृति मिल चुकी थी इसे वर्ष 2022 में बनकर प्रारम्भ भी हो जाना था, लेकिन कोविड-19 और लॉकडाउन के चलते यह प्रोजेक्ट लेट होता गया अब इस प्रोजेक्ट का काम दिसम्बर में प्रारम्भ हो जाएगा

पब्लिक ट्रांसपोर्ट मिलने से नहीं लगानी होगी ऑटो-ई रिक्शा की दौड़

ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो लाइन के प्रारम्भ होने से इसका एक बड़ा लाभ ग्रेटर नोएडा मेट्रो को भी मिलेगा नोएडा के परी चौक से बड़ी संख्या में लोग वेस्ट के लिए भी यात्रा करते हैं, लेकिन कोई पब्लिक ट्रांसपोर्ट न होने के चलते ऑटो और टैक्सी का सहारा लेते हैं वेस्ट तक मेट्रो प्रारम्भ होने के बाद ग्रेटर नोएडा होते हुए लोग वेस्ट तक का यात्रा करने लगेंगे