कांवड़ यात्रा के लिए हाइवे से शहर की सड़कों तक पुलिस तैनात

कांवड़ यात्रा के लिए हाइवे से शहर की सड़कों तक पुलिस तैनात

मुरादाबाद. सावन के अंतिम सोमवार पर जलाभिषेक के लिए कांवड़ियों के बेड़े तेजी के साथ अपने गंतव्य की ओर बढ़ रहे हैं. इसे देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने सतर्कता भी बढ़ा दी है. शनिवार को सीओ और एसपी स्वयं भ्रमण करके प्रबंध बनाने में जुटे नजर आए. आखिरी सोमवार पर जलाभिषेक करने के लिए कांवड़ियां पवित्र नदियों से जल लेकर लौटने लगे हैं. सड़क पर कांवड़ियों का हुजूम नजर आ रहा है. बड़े-बड़े कांवड़ बेड़ों के साथ नाचते गाते कांवड़ियां शिवालयों की ओर बढ़ रहे हैं. ऐसे में हादसें का खतरा भी बढ़ गया है. 

इसी को ध्यान में रखते हुए पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा के और भी कड़े व्यवस्था किए हैं. हाईवे पर हर सौ मीटर पर पुलिस तैनात की गई है. जीरो पॉइंट पाकबड़ा से मझोला थना होते हुए गागन तिराहा, सर्किट हाउस, चौधरी चरण सिंह चौक, धर्मकांटा, मझोली तिराहा, मानसरोवर गेट, काशीरामनगर गेट से लेकर लोकोशेड पुलिस और फव्वारा चौक तक सबसे अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. इसी तरह कांठ रोड पर शेरुआ चौराहा से अगवानपुर बाईपास पुल, डेंटल कॉलेज मोड, कॉसमॉस से लेकर हरथला, पीएसी तिराहा और पीली कोठी तक पुलिस का कड़ा पहरा है. फव्वारा चौक से रेलवे स्टेशन रोड होते हुए रामपुर रोड और संभल रोड पर भी चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात की गई है.सुरक्षित कांवड़ यात्रा के लिए शहर की सड़कों पर सोमवार तक के लिए ऑटो और ई-रिक्शा का संचालन प्रतिबंधित कर दिया गया है. ऐसे में रेलवे स्टेशन पर विभिन्न ट्रेनों से उतरने वाले या ट्रेन पकड़े के लिए जाने वालों को पैदल चलना पड़ रहा है. इसी तरह रोडवेज बसों को पकड़ने और उससे उतर तक अपने घर तक जाने के लिए भी लोग कई-कई किलो मीटर पैदल चलते नजर आए. सबसे अधिक परेशानी रेलवे स्टेशन से फव्वारा चौक और पीली कोठी तक जाने वालों को हुई. हालांकि पुलिस का दावा है कि आवश्यक सेवाओं के लिए ऑटो और ई-रिक्शा वालों को जाने दिया गया है.