सुपरटेक 7 अगस्त तक संरचनात्मक ऑडिट की देगा जानकारी

सुपरटेक 7 अगस्त तक संरचनात्मक ऑडिट की देगा जानकारी

 रियल एस्टेट कंपनी सुपरटेक को सीबीआरआई द्वारा मांगे गए ट्विन टावर से सटे भवनों के संरचनात्मक ऑडिट से संबंधित सभी जानकारी रविवार तक प्रदान करने का निर्देश दिया गया है ऑफिसरों ने यह जानकारी दी ऑफिसरों ने शनिवार को बोला कि केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान (सीबीआरआई) ने सुपरटेक और फर्म ‘एडिफिस इंजीनियरिंग’ से मलबे प्रबंधन समेत अन्य विषयों के बारे में विवरण मांगा था ट्विन टावर को गिराने का काम 21 अगस्त 2022 को दोपहर 2.30 बजे होगा उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले वर्ष अगस्त में दिए निर्णय में बोला था कि नोएडा सेक्टर 93ए में बने ट्विट टावर इमारत मानकों का उल्लंघन करते हैं साथ ही इन्हें गिराने का आदेश दिया था

वहीं, कल समाचार सामने आई थी कि सुपरटेक ट्विन टावर को 28 अगस्त को ध्वस्त किया जाना है ऐसे में जैसे-जैसे इमारत को गिराने के दिन निकट आ रहे हैं, ट्विन टावर के दोनों तरफ बनी एटीएस और सुपरटेक में रहने वालों को अपने भविष्य की चिंता सता रही है वहां रहने वाले लोग चिंतित हो रहे हैं, उनमें डर बना हुआ है आप भी सोच रहे होंगे कि दूसरी बिल्डिंग में रहने वाले लोग क्यों चिंतित हो रहे हैं? उन्हें डर क्यों लग रहा है? तो चलिए जानते हैं कि आखिर इर्द-गिर्द वाली बिल्डिंग में रहने वाले लोगों की चिंता का क्या कारण है?

अब 3,800 किलो विस्फोटक का उपयोग किया जा रहा है
दरअसल वहां रहने वाले लोग अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं लोगों का मानना है कि बिल्डिंग को गिराए जाने से आस पास की अन्य बिल्डिंग भी प्रभावित हो सकती हैं जिसके कारण गवर्नमेंट ने सुरक्षा के मद्देनजर सभी क्षेत्रीय लोगों को लगभग 10 घंटे के लिए घर खाली करने का आदेश दिया है आपको बता दें कि सुपरटेक ट्विन टॉवर को गिराने में 3800 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया जा रहा जिसकी वजह से वहां रहने वाले लोगों को चिंता सता रही है क्षेत्रीय लोगों का बोलना है कि बिल्डिंग को गिराने के लिए पहले 2,500 किलोग्राम विस्फोटक उपयोग करने की बात कही गई थी लेकिन अब 3,800 किलो विस्फोटक का उपयोग किया जा रहा है