पिछले 6 महीने से आयकर डिपार्टमेंट कर रहा था सभी की रेकी

पिछले 6 महीने से आयकर डिपार्टमेंट कर रहा था सभी की रेकी

झांसी आयकर की टीम ने पांच दिनों तक झांसी के बड़े कारोबारियों, बिल्डरों और व्यापारियों के यहां छापा मारकर बड़ी कामयाबी हासिल की है नाम नहीं छपने और पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर आयकर के एक अधिकारी ने न्यूज 18 से छापे से जुड़ी अहम जानकारी देते हुए बताया कि इस पूरी कार्रवाई में आयकर की टीम को व्यापारियों, कारोबारियों, बिल्डर्स, रियल स्टेट कारोबारियों और घनाराम ग्रुप के पास से डेढ़ करोड़ रुपए से अधिक का बेनामी कैश बरामद हुआ है साथ ही सभी ने आयकर की टीम की पूछताछ में तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपए की टैक्स चोरी करने की बात कबूल की है

इसके अतिरिक्त सभी बिल्डर्स, कारोबारियों और व्यापारियों के पास से आयकर की टीम ने एक डायरी भी बरामद की है, जिसमें तीन सौ करोड़ रुपए कैश ट्रांजेक्शन करना मिला है नौ किलोग्राम सोने के बेनामी आभूषण भी आयकर टीम के हाथ लगे है इसके अतिरिक्त आयकर की टीम ने इन सभी कारोबारियों, व्यापारियों और बिल्डर्स के बीच की सबसे अहम कड़ी सीए दिनेश सेठी के आवास पर भी छापेमारी के बाद उसे सील कर दिया है सीए के घर छापेमारी में इनकम टैक्स की टीम ने कई अलमारियों में रखी बिल्डरों, कारोबारियों और व्यापारियों से जुड़ी फाइलें और अहम डॉक्यूमेंट्स भी कब्जे में लिए है इसके अतिरिक्त छापेमारी के दौरान घर से टहलने निकले सीए दिनेश सेठी से आयकर विभाग के ऑफिसरों ने मेदांता जाकर वारंट पर साइन भी करवा लिए थे घनाराम ग्रुप के मालिक को भी आयकर की टीम ने नोएडा स्थित कंपनी के हेड ऑफिस में नजरबंद करके चार दिनों तक रखने का दावा भी किया है

सीए दिनेश सेठी के घर से मिले अहम दस्तावेज

इनकम टैक्स के अधिकारी ने ये भी दावा किया है कि जो भी डॉक्यूमेंट्स और फाइलें सीए दिनेश सेठी के घर में मिली है, उनकी जांच के बाद आगे भी झांसी में छापेमारी हो सकती है इस पूरी छापेमारी के पीछे की कड़ी कानपुर के एक हॉस्पिटल से जुड़ी है हॉस्पिटल से इनकम टैक्स की टीम को नौ करोड़ रुपए के बेनामी हिसाब पुस्तक की अहम जानकारी मिलने के बाद यह छापेमारी की गई थी छह महीने पहले कानपुर से मिली इस अहम जानकारी के आधार पर इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी पिछले छह महीने से लगातार झांसी के बिल्डरों, व्यापारियों, कारोबारियों, घनाराम ग्रुप के मालिक के कार्यालयों, आवासों, होटल, शो रूम समेत तीन दर्जन से अधिक ठिकानों की रेकी करते रहे

6 महीने से टीम कर रही थी रेकी

इस दौरान इनकम टैक्स विभाग के अफसर इन सभी लोगों के व्यापार और कारोबार से जुड़ी क्रियाकलापों पर पैनी नजर रख रहे थे इतना ही नहीं अरबों रुपए की कर चोरी, बेनामी संपत्ति, बेनामी कैश, गोल्ड होने की पुष्टि के बाद इनकम टैक्स विभाग के ऑफिसरों ने गृह मंत्रालय से अनुमति लेकर छापेमारी की जद में आए सभी लोगों के टेलीफोन कॉल्स को स्वयं के सर्विलांस पर लेकर इन सबकी वार्ता को सुनते रहे पांच दिन की छापेमारी में इनकम टैक्स की टीम ने प्राइवेट बैंकों में खोले गए चौदह लाकर की छानबीन भी की कई लाकर्स को इनकम टैक्स की टीम ने सील भी करवाया कुल मिलाकर इस पांच दिन की छापेमारी में आयकर के अधिकारी ने छह सौ करोड़ से भी अधिक की बेनामी संपत्ति, कैश, गोल्ड, टैक्स चोरी करना पकड़ा है