कलेक्ट्रेट बैठक भवन में जल जीवन मिशन की समीक्षा करते जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार

कलेक्ट्रेट बैठक भवन में जल जीवन मिशन की समीक्षा करते जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार

कलेक्ट्रेट बैठक भवन में जल जीवन मिशन की समीक्षा करते जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार

पेयजल एवं स्वच्छता मिशन के अनुसार जिले में हर घर को नल से जोड़ने के लिए लागू जल जीवन मिशन योजना के प्रगति की समीक्षा की गयी.जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार को कलेक्ट्रेट बैठक भवन में अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे अमरेन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि 6 कार्यदायी संस्थाओ द्वारा 9 प्रोजेक्ट से सम्बन्धित कार्यो को किया जा रहा है.

नहीं दिया इन्होंने प्रगति रिपोर्ट

कार्यदायी संस्था एन0सी0सी0 लि0, मेघा इंजीनियरिंग एजेंसी, मल्टी अर्बन एवं रैंकी बाबा एजेंसी ने जुलाई माह में कोई प्रगति रिपोर्ट नहीं दिया है. इस पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी जताई चेतावनी देते हुए बोला कि अगले माह अपेक्षित प्रगति न आने पर सम्बंधित एजेंसी के खिलाफ FIR दर्ज कराते हुये कड़ी कार्यवाई की जाएगी.

एक गांव में हो पूरा काम

कार्यदायी संस्था प्रोजेक्ट को तय समय पर ही पूरा करें. परियोजना प्रबन्धक माइक्रो लेबर पर प्लानिंग कर जोनवार गांवों में कार्य को प्रत्येक घरो में जल कनेक्शन जोड़ने का कार्य करें. कार्य पूरा होने पर ही दूसरे गांव में कार्यारंभ करें. प्रत्येक गांव में जलापूर्ति होने के बाद ही दूसरे गांव का रुख करें.

सड़क, वन विभाग ने जताया आपत्ति

बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी पी0एस0 त्रिपाठी ने कार्यदायी एजेंसियों से बोला कि वन विभाग NOC प्राप्त करने के लिये दिये गए आवेदनों में हिंदुस्तान गवर्नमेंट द्वारा कुछ आपतियां प्राप्त हुई हैं जिसका तुरन्त निस्तारण कराए. जिससे NOC निर्गत किया जा सके. इसी प्रकार लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियन्ता ने बोला कि ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्य सडकों को काट कर क्षतिग्रस्त कर दिया जा रहा है. जो एन0ओ0सी0 में निहित नियमों का उल्लंघन है .