ओपी यादव पर यूपी राज्य सूचना आयोग ने 25 हजार रुपये का लगाया जुर्माना

ओपी यादव पर यूपी राज्य सूचना आयोग ने 25 हजार रुपये का लगाया जुर्माना

बदायूं में SP देहात रहे ओपी यादव पर यूपी राज्य सूचना आयोग ने 25 हजार रुपये का जुर्माना डाला है. सूचनाएं न देने का आरोप भले ही तत्कालीन एसपी देहात और पुलिस के जनसूचना अधिकारी रहे ओपी यादव पर हो लेकिन मौजूदा समय में यह रिमाइंडर बदायूं पहुंच गया है. जबकि तकरीबन नौ वर्ष में इस पद पर कई अधिकारी आए और गए. नतीजतन यह रिमाइंडर अफसरों की टेंशन बना हुआ है.

बदायूं में अशोक कुमार कमल नाम के आदमी ने वर्ष 2013 में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय से कुछ सूचनाएं जन सूचना अधिकार के अनुसार मांगी थीं. जनसूचना अधिकारी का प्रभार SP देहात पर था. हालांकि ये सूचनाएं उपलब्ध नहीं कराई गईं. संभव है कि सूचनाएं विभागीय गोपनीयता से जुड़ी रही हों, जिन्हें साझा या सार्वजनिक नहीं किया जा सकता हो. सूचनाएं न मिलने पर प्रक्रिया के अनुसार पहले डीएम बदायूं के यहां यह मामला पहुंचा, जबकि इसके बाद राज्य सूचना आयोग में कम्पलेन हुई.
5 दिसंबर 2013 को हुआ फैसला
सूचना आयोग द्वारा 5 दिसंबर 2013 को यह आदेश जारी किया गया कि संबंधित अधिकारी पर 25 हजार रुपये का जुर्माना डाला गया है. जुर्माने की राशि 3 किश्तों में वह अधिकारी कोषागार में जमा कराएंगे.
अब हो रही टेंशन
आदेश के बाद SP देहात के पद पर कई अधिकारी तैनात हुए और यहां अपनी सेवाएं देकर चले गए. इधर, आयोग द्वारा पिछले दिनों आदेश का पालन कराने के लिए रिमाइंडर भेजा गया. ADM वित्त ने रिमाइंडर और आदेश की प्रति SSP आफिस भेज दी. वैसे उस समय यहां SP देहात के पद पर ओपी यादव तैनात थे. ऐसे में अब अधिकारी असमंजस की स्थिति में आ गए हैं. हालांकि ओपी यादव इस समय ADG बरेली जोन के स्टाफ आफिसर के पद पर तैनात हैं.