डीएम ने कहा वृक्षारोपण के लिए सभी विभाग रहें तैयार

डीएम ने कहा वृक्षारोपण के लिए सभी विभाग रहें तैयार

डीएम ने बोला वृक्षारोपण के लिए सभी विभाग रहें तैयार. अफसरों से बोला कि तीन दिन के अंदर वृक्षारोपण के लिए गड्‌ढा खुदाई कर वन विभाग को दे रिपोर्ट

1 जुलाई से होने वाले वृक्षारोपण को लेकर तैयारी तेज हो गई है. डीएम शिवाकांत द्विवेदी ने जिले के सभी विभाग के अफसरों को निर्देश दिए हैं कि जिन विभागों को वृक्षारोपण का जितना लक्ष्य दिया गया है, उसके आधार पर तैयारी करें और गढ़ढा खुदाई की किए जाने की रिकार्ड वन विभाग को तीन दिन के अंदर मौजूद करा दें.इसी के साथ जिन विभागों ने गड्‌ढा खुदाई का काम पूरा कर लिया है वह वन विभाग को पौध के लिए मांग पत्र शीघ्र भेजे. इसी के साथ जल्द से जल्द पौधारोपण भी प्रारम्भ करें. डीएम ने जिला उद्यान अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि उप जिलाधिकारी आंवला से संपर्क कर विकास खंड मझगवां में अतिक्रमण मुक्त कराई गई जमीन पर वृहद वृक्षारोपण कराया जाए.

पौधा लगाने के साथ ही सुरक्षा के भी करें उपाय

डीएम ने सभी संबंधित अफसरों को निर्देश दिए हैं कि अपने-अपने विभाग के वृक्षारोपण कार्य के लिए एक नोडल अधिकारी भी अवश्य नामित करें. उन्होंने निदेर्श दिए हैं कि जहां पौधे लगाए जाएं उन पौधों की सुरक्षा कराने के साथ ही जियो टैगिंग भी कराई जाए.

डीएम ने आज कलेक्ट्रेट बैठक भवन में जिला वृक्षारोपण समिति, गंगा समिति तथा पर्यावरण समिति की बैठक की अध्यक्षता के दौरान उक्त बातें कहीं. बैठक में लगभग सभी विभाग के अफसर उपस्थित रहे.

नदियों में कचरा डालने से रोकें, तालाब अतिक्रमण मुक्त कराएं

डीएम नें गंगा समिति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि जिले में नदियों तथा तालाबों को चिन्हित कर उसकी सूची डीसी मनरेगा को मौजूद कराने के निर्देश दिये. उन्हांने बोला कि कम्पलेन मिली है कि नदियों में कुछ लोग कपड़े, पालीथीन सहित अन्य कचरा डाल देते हैं, इसको रोकने के लिए नदियों के किनारे घाट से पहले समुचित प्रबंध कराने के निर्देश भी दिए हैं, जिससे नदियां सुरक्षित रहें. उन्होंने नदी के आसपास तथा तालाबों के किनारे वृक्षारोपण कराने के भी निर्देश दिए. इसी के साथ नदी की जमीन और तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कराने के भी आदेश दिए हैं.

पालीथीन कारोबारियों पर कार्रवाई के आदेश

डीएम ने केन्द्रीय प्रदूषण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी को निर्देश दिये कि वह राज्य कर विभाग से समन्वय कर पालीथीन और प्लास्टिक के थोक विक्रेताओं के यहां छापामारी कर कार्रवाई करें. उन्होंने प्लास्टिक की थैलियों के प्रयोग को रोकने के संबंध में पत्र भी जारी किए जाएं. उन्होंने नगर निगम को भी निर्देशित किया है कि बाकरगंज के कूड़ा निस्तारण के कार्य में शीघ्र प्रगति लाई जाये. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि बायो मेंडिकल वेस्ट के निस्तारण में जिस एजेन्सी के द्वारा कार्य किया जा रहा है, उसकी समीक्षा कर प्रगति रिपोर्ट भी तलब की जाए. डीएम ने निर्देश दिए हैं कि बायो मेडिकल वेस्ट को इधर-उधर न फेंका जाए. इस पर विशेष ध्यान दिया जाए.