महिलाओं की भागीदारी से बदलेगा गांव का नक्शा

महिलाओं की भागीदारी से बदलेगा गांव का नक्शा

डेनमार्क के राजदूत फ्रेडी स्वैन ने आज मिर्जापुर के सादी बनकट गांव का दौरा किया. यहां उन्होंने ‘जल जीवन मिशन’ योजना के कामों को देखा. साथ ही गांव के लोगों से वार्ता की. इंटरप्रैटर के माध्यम से ‘जल संरक्षण’ को लेकर स्त्रियों से जानकारी ली.

बता दें, मिर्जापुर जिला यूपी के सबसे अधिक पानी की कमी वाले जिलों की सूची में शामिल है. गवर्नमेंट यहां जल संरक्षण को लेकर तरह-तरह के कार्यक्रम चला रही है. ताकि पानी की परेशानी को कम किया जा सके.

कार्यक्रम में कमिश्नर योगेश्वर राम मिश्र ने मां विंध्यवासिनी का चित्र भेंट कर फ्रेडी स्वैन का स्वागत किया. इस दौरान कमिश्नर ने ‘जल जीवन मिशन’ के लिए जल सुरक्षा और सिस्टम स्थिरता के महत्व पर लोगों को प्रोत्साहित किया. बैठक में सादी बनकट और भोरसर गांव के ग्राम पंचायत की ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति सहित गांव के 200 से अधिक सदस्यों ने भाग लिया.

मिशन का लक्ष्य- ‘2024 तक हर घर में नल से जल’
‘जल जीवन मिशन’ का लक्ष्य 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को कार्यात्मक घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करना है. मिशन का उद्देश्य मॉडल गांवों का निर्माण करना है. इस दौरान स्त्रियों ने राजदूत के समक्ष पानी की गुणवत्ता परीक्षण कौशल का प्रदर्शन किया. केंद्र गवर्नमेंट ने प्रत्येक गांव के हर घर में नल कनेक्शन के माध्यम से पेयजल मौजूद कराने के उद्देश्य से 2019 में ‘जल जीवन मिशन’ प्रारम्भ किया है.

महिलाओं की भागीदारी से बदलेगा गांव का नक्शा
मिशन के ढांचे में उचित सेवा शुल्क लगाने की योजना है. समुदायों के पास परियोजना का स्वामित्व और संचालन होगा. ग्राम स्तर पर जल सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए नियोजन अभ्यास में भी लगे रहेंगे. इस ढांचे के भीतर सामुदायिक समूहों, विशेषकर स्त्रियों को एक जरूरी किरदार निभाने की योजना है.

फ्रेडी स्वैन ने ‘जल जीवन मिशन’ के अनुसार निर्माणाधीन पानी की टंकियों और अन्य कार्यों का निरीक्षण किया. किए जा रहे कार्य के प्रति प्रसन्नता जताई. स्त्रियों के जागरुकता की भी सराहना की. उन्होंने वृक्षारोपण कर यात्रा को अविस्मरणीय बनाया.

स्वागत में जुटे रहे अधिकारी
बैठक के दौरान डेनमार्क के राजदूत के स्वागत में कमिश्नर योगेश्वर राम मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी श्रीलक्ष्मी वीएस, अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे अमरेंद्र कुमार वर्मा, परियोजना अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी अरविंद कुमार, अधिशासी अभियंता जल निगम संदीप कुमार आदि लगे रहे.