फलों का राजा आम बाजार में बिकना शुरू

फलों का राजा आम बाजार में बिकना शुरू

शाहजहांपुर गर्मियों का मौसम प्रारम्भ होते ही फलों का राजा आम बाजार में बिकना प्रारम्भ हो गया है आम खाने के शौकीन लोग आंख मूंदकर आमों को खरीद रहे हैं हालांकि बाजार में इस समय केमिकल से पके आमों की भरमार है, जो आपको कैंसर सहित कई दूसरी बीमारियां दे सकता है केमिकल युक्त आमों को बेचकर व्यापारी आम के साथ गुठलियों के भी मूल्य वसूल रहे हैं और प्रशासन इस मुद्दे में मानो आंख मूंदकर बैठा है

दरअसल गर्मियों में व्यापारी एथलीन और कार्बेट जैसे खतरनाक केमिकल से आमों को पका रहे हैं जानकार चिकित्सक बताते हैं कि किसान और व्यापारी जिन केमिकल से इन आमों को पकाते हैं वो कैंसर और नर्वस सिस्टम को खराब करती हैं कच्चे आमों को पकाने के लिए कैल्शियम कार्बाइड, एसिटलीन गैस, कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसे कैमिकल का इस्तेमाल किया जाता है, जिसकी वजह से आदमी को स्किन कैंसर, कोलन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेन डैमेज जैसे खतरनाक रोग हो जाने का खतरा रहता है

दरअसल एक जमाना था जब हिंदुस्तान में इन आमों को परंपरागत उपायों से पाल में पकाया जाता था भूसे और ठंडे बोरों को डालकर इन आमों को पकाया जाता था इससे खाने वाले की स्वास्थ्य पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता था लेकिन पैसों की होड़ में व्यापारी आमों को शीघ्र पकाने के लिए केमिकल का इस्तेमाल करने लगे

कैसे करें पहचान
केमिकल से पके आम की पहचान बेहद कठिनाई नहीं हैं दरअसल केमिकल से पके आम कहीं पर पीले और कहीं हरे दिखाई देते हैं, जबकि प्राकृतिक रूप से पके हुए आम में हरे धब्बे नहीं दिखते हैं तो जिन फलों के ऊपर हरे रंग के धब्बे दिखते हैं, उनसे दूर रहे इस अतिरिक्त केमिकल से पकाए आम काटने पर अंदर से कहीं पीले तो कहीं सफेद दिखते हैं, जबकि प्राकृतिक ढंग से पकने वाले फल अंदर से पूरी तरह से पीले दिखते हैं वहीं केमिकलयुक्त फल खाने से मुंह में कसैला सा स्वाद आने लगता है और मुंह में मामूली सी जलन होने लगती है यदि आप महंगे आम खरीदते और खाते समय यह सब आपको दिखाई पड़ रहा है तो आप सावधान हो जाइए क्योंकि यह आम आपको स्वास्थ्य देने के बजाय बीमारियां जरूर दे देंगे