IPL 2021 की अंकतालिका में बड़ा बदलाव, फिर से नंबर वन बनी ये टीम

IPL 2021 की अंकतालिका में बड़ा बदलाव, फिर से नंबर वन बनी ये टीम

दुबई के मैदान पर मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच रविवार को दमदार मुकाबला खेला गया। इस मैच के बाद आइपीएल के 14वें सीजन की अंकतालिका में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। एमएस धौनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई इंडियंस को 20 रन से हरा दिया। इस हारे से मुंबई की पोजिशन पर कोई फर्क नहीं पड़ा है, लेकिन चेन्नई को काफी फायदा हुआ, क्योंकि चेन्नई सुपर किंग्स फिर से आइपीएल 2021 की अंकतालिका में शीर्ष पर पहुंचने में सफल हुई है।

आइपीएल 2021 की शुरुआत से ही चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच नंबर एक और नंबर दो की रेस लगी हुई है। कभी दिल्ली कैपिटल्स तो कभी चेन्नई सुपर किंग्स अंकतालिका में पहला और दूसरा स्थान हासिल करती रही हैं। यूएई लेग से पहले दिल्ली की टीम 12 अंकों के साथ अंकतालिका में पहले नंबर पर थी, लेकिन अब चेन्नई सुपर किंग्स इतने ही अंक और बेहतर नेट रन रेट की वजह से नंबर वन बन गई है। नेट रन रेट के मामले में धौनी की टीम ने दिल्ली कैपिटल्स को काफी पीछे छोड़ा हुआ है और यहां से टीम को प्लेआफ के लिए क्वालीफाइ करने के लिए सिर्फ दो मैचों में जीत हासिल करने की जरूरत है। टीम को अभी भी 6 मैच और खेलने हैं।


आइपीएल 2021 की अंकतालिका में तीसरे नंबर पर विराट कोहली की कप्तानी वाली रायल चैलेंजर्स बैंगलोर है। आरसीबी के खाते में 7 मैचों के बाद 10 अंक हैं। वहीं, मुंबई इंडियंस अपने पहले 8 मैचों में सिर्फ 4 मैच जीतकर चौथे स्थान पर है और टीम के खाते में कुल 8 अंक हैं। टीम के नेट रन रेट भी चिंता का विषय बना हुआ है। वहीं, पांचवें नंबर पर राजस्थान रायल्स है, जिसने 7 मैचों में 3 मैच जीते हैं और टीम के खाते में 6 अंक हैं। इतने ही अंक पंजाब किंग्स के खाते में हैं, लेकिन पंजाब की टीम अपने 8 मैच खेल चुकी है। सातवें नबर पर कोलकाता नाइट राइडर्स है, जिसने 7 मैचों में सिर्फ दो मुकाबले जीते हैं, जबकि सबसे आखिर में सनराइजर्स हैदराबाद है, जो अपने पहले सात मैचों में एक मैच जीत पाई है।


विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने की वजह सचिन तेंदुलकर कैसे हैं, ब्रैड हाग ने बताया

विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने की वजह सचिन तेंदुलकर कैसे हैं, ब्रैड हाग ने बताया

विराट कोहली ने एक के बाद एक लगातार दो घोषणाएं अपनी कप्तानी को छोड़ने को लेकर कर डाली। रविवार को उन्होंने आरसीबी की कप्तानी छोड़ने का एलान किया और कहा कि वो बतौर कप्तान इस टीम के लिए आखिरी सीजन खेलेंगे तो उससे पहले उन्होंने भारतीय टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का एलान किया था। विराट के मुताबिक उन्होंने अपने कार्यभार को मैनेज करने के लिए ये कदम उठाया है, लेकिन आस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हाग ने इसके पीछे की वजह कुछ और ही बताई। 

ब्रै़ड हाग के मुताबिक विराट कोहली ने भारतीय टी20 टीम और आरसीबी की कप्तानी इस वजह से छोड़ी ताकि वो टेस्ट क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर के 51 शतक के रिकार्ड की बराबरी करने वाली उपलब्धि पर ध्यान दे सकें। हाग के अनुसार विराट कोहली को टेस्ट क्रिकेट में महानतम खिलाड़ी के तौर पर याद रखा जाए और इसके लिए उन्हें कुछ बड़ा हासिल करने की जरूरत है। 


ब्रैड हाग ने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा कि विराट कोहली के इस फैसले के पीछे कुछ बड़ी तस्वीर है। अगर लोगों को लग रहा है कि वो दवाब या कार्यभार की वजह से इस तरह के फैसले कर रहे हैं तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। हाग ने कहा कि विराट कोहली टी20 इंटरनेशनल और आरसीबी की कप्तानी छोड़ रहे हैं क्योंकि वो टेस्ट क्रिकेट पर अपना ध्यान लगा रहे हैं। वो टेस्ट व वनडे टीम की कप्तानी करना चाहते हैं, लेकिन उनकी आंखों में सचिन तेंदुलकर का इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक का रिकार्ड भी है जिसकी वो बराबरी करने में जुटे हैं। 


हाग ने आगे कहा कि कोहली वनडे क्रिकेट में 43 शतक लगा चुके हैं, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम पर अब तक सिर्फ 27 शतक ही है। सचिन तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मैचों में 51 शतक लगाए थे। मेरे हिसाब से कोहली तेंदुलकर के 51 टेस्ट शतक की बराबरी करके एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम करना चाहते हैं। वो दुनिया के महानतम क्रिकेटरों में से एक बनना चाहते हैं और इसी तरह अपने कदम बढ़ा रहे हैं।