ICC व BCCI के बीच फिर हुआ विवाद प्रारम्भ, ICC ने दे डाली ये बड़ी धमकी

ICC व BCCI के बीच फिर हुआ विवाद प्रारम्भ, ICC ने दे डाली ये बड़ी  धमकी

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) व भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के बीच फिर से विवाद प्रारम्भ हो गई है. यहां तक कि अब आइसीसी ने बीसीसीआइ को हिंदुस्तान से 2021 में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप को शिफ्ट करने की धमकी भी दे दी है.

 कर से जुड़े मुद्दे की वजह से संसार के सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड को ये धमकी क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था से मिली है.

आइसीसी ने बीसीसीआइ को बोल दिया है कि बोर्ड के पास से 2021 मेंस टी0 वर्ल्ड कप के अधिकारों को छीना जा सकता है, अगर बीसीसीआइ हिंदुस्तान सरकार से टूर्नामेंट के लिए कर छूट (Tax Exemption) को सुरक्षित करने में पास नहीं होती है. ईएसपीएन क्रिकइंफो के मुताबिक, आइसीसी व बीसीसीआइ के बीच जमकर ईमेलबाजी हुई है. ICC ने BCCI को बताया कि उसे इस वर्ष 18 मई तक एक "बिना शर्त पुष्टि" प्रदान करनी थी कि हिंदुस्तान सरकार के साथ समन्वय में एक लंबे समय से समस्या का निवारण पाया गया है, लेकिन ऐसा नहीं हो सका.

इसके इतर, बीसीसीआइ चाहती है कि कोविड-19 महामारी की वजह से इसकी समय सीमा को कम से कम 30 जून तक बढ़ा दिया जाए, लेकिन आइसीसी ने इस अनुरोध को अस्वीकार कर दिया है. आइसीसी के एडवोकेट जोनाथन हॉल ने 29 अप्रैल को बीसीसीआइ को लिखा था "बीसीसीआइ के बल के प्रदर्शन की अधिसूचना के प्रकाश में, हम मेजबान समझौते के बीसीसीआइ पर दायित्व को उजागर करेंगे व IBC (ICC Business Corporation) 18 मई 2020 को किसी भी समय तत्काल असर से समझौते को खत्म करने का हकदार है."

क्या है ये विवाद

ICC व BCCI के बीच हुआ ये कोई पहला मुद्दा नहीं है. इससे पहले भी हिंदुस्तान की मेजबानी में हुए 2016 के टी20 वर्ल्ड कप की वजह से आइसीसी को 20 से 30 मिलियन यूएस डॉलर का नुकसान हुआ था, क्योंकि बीसीसीआइ ने कर छूट के लिए हिंदुस्तान सरकार से अनुमति नहीं ली थी. फरवरी 2018 में भी आइसीसी बोर्ड ने पहली बार बीसीसीआइ को चेतावनी दी थी कि 2021 के टी20 वर्ल्ड कप व 2023 के वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी हट सकती है, क्योंकि अगर आइसीसी को कर छूट नहीं मिलती है तो उसके 100 मिलियन यूएस डॉलर का नुकसान होगा.