बीसीसीआइ की यौन उत्पीड़न नीति के अंतर्गत आएंगे क्रिकेटर व बोर्ड के पदाधिकारी

बीसीसीआइ की यौन उत्पीड़न नीति के अंतर्गत आएंगे क्रिकेटर व बोर्ड के पदाधिकारी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने सोमवार को समग्र यौन उत्पीड़न रोकथाम (पोश) को स्वीकृति दी जिसके दायरे में भारतीय क्रिकेटर भी आएंगे। अब तक बीसीसीआइ की यौन उत्पीड़न के मामलों से निपटने के लिए किसी तरह की विशिष्ट नीति नहीं थी। यह नीति पदाधिकारियों, शीर्ष परिषद और आइपीएल संचालन परिषद के सदस्यों के अलावा सीनियर से अंडर-16 स्तर के क्रिकेटरों पर भी लागू होगी।

बीसीसीआइ के अनुसार, यौन उत्पीड़न की शिकायतों की जांच के लिए चार सदस्यीय आंतरिक समिति का गठन किया जाएगा। शीर्ष परिषद की बैठक के दौरान इसके सदस्यों पर फैसला नहीं किया गया। नीति के अनुसार, आंतरिक समिति की अध्यक्ष महिला होनी चाहिए जो अपने कार्यस्थल पर सीनियर स्तर पर नियुक्त हो। आंतरिक समिति के दो सदस्यों का चयन कर्मचारियों के बीच से किया जाएगा, इसमें उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी जो महिलाओं के अधिकारों के लिए प्रतिबद्ध हों या उन्हें सामाजिक कार्य का अनुभव हो या कानूनी जानकारी हो।


आंतरिक समिति का एक सदस्य गैर सरकारी संगठन या ऐसे संघ से चुना जाना चाहिए जो महिलाओं के अधिकारियों के लिए काम करते हों या यौन उत्पीड़न से जुड़े मुद्दों की जानकारी रखते हो (बाहरी सदस्य)। आंतरिक समिति के कम से कम आधे सदस्य महिलाएं होनी चाहिए। शिकायकर्ता को घटना के तीन महीने के अंदर शिकायत दर्ज करानी होगी और आंतरिक समिति आरोपी को आरोपों का जवाब देने के लिए सात कार्य दिवस का समय देगी।


आंतरिक समिति को अपनी जांच पूरी करने के लिए शिकायत के दिन से 90 दिन का समय मिलेगा और वह अपनी सिफारिश बीसीसीआइ को सौंपेगी जो 60 दिन में कार्रवाई करेगा। शिकायतकर्ता या आरोपी अगर बीसीसीआइ के फैसले से संतुष्ट नहीं होते हैं तो अदालत की शरण में जा सकते हैं।


IPL 2021 की अंकतालिका में बड़ा बदलाव, फिर से नंबर वन बनी ये टीम

IPL 2021 की अंकतालिका में बड़ा बदलाव, फिर से नंबर वन बनी ये टीम

दुबई के मैदान पर मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच रविवार को दमदार मुकाबला खेला गया। इस मैच के बाद आइपीएल के 14वें सीजन की अंकतालिका में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। एमएस धौनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई इंडियंस को 20 रन से हरा दिया। इस हारे से मुंबई की पोजिशन पर कोई फर्क नहीं पड़ा है, लेकिन चेन्नई को काफी फायदा हुआ, क्योंकि चेन्नई सुपर किंग्स फिर से आइपीएल 2021 की अंकतालिका में शीर्ष पर पहुंचने में सफल हुई है।

आइपीएल 2021 की शुरुआत से ही चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच नंबर एक और नंबर दो की रेस लगी हुई है। कभी दिल्ली कैपिटल्स तो कभी चेन्नई सुपर किंग्स अंकतालिका में पहला और दूसरा स्थान हासिल करती रही हैं। यूएई लेग से पहले दिल्ली की टीम 12 अंकों के साथ अंकतालिका में पहले नंबर पर थी, लेकिन अब चेन्नई सुपर किंग्स इतने ही अंक और बेहतर नेट रन रेट की वजह से नंबर वन बन गई है। नेट रन रेट के मामले में धौनी की टीम ने दिल्ली कैपिटल्स को काफी पीछे छोड़ा हुआ है और यहां से टीम को प्लेआफ के लिए क्वालीफाइ करने के लिए सिर्फ दो मैचों में जीत हासिल करने की जरूरत है। टीम को अभी भी 6 मैच और खेलने हैं।


आइपीएल 2021 की अंकतालिका में तीसरे नंबर पर विराट कोहली की कप्तानी वाली रायल चैलेंजर्स बैंगलोर है। आरसीबी के खाते में 7 मैचों के बाद 10 अंक हैं। वहीं, मुंबई इंडियंस अपने पहले 8 मैचों में सिर्फ 4 मैच जीतकर चौथे स्थान पर है और टीम के खाते में कुल 8 अंक हैं। टीम के नेट रन रेट भी चिंता का विषय बना हुआ है। वहीं, पांचवें नंबर पर राजस्थान रायल्स है, जिसने 7 मैचों में 3 मैच जीते हैं और टीम के खाते में 6 अंक हैं। इतने ही अंक पंजाब किंग्स के खाते में हैं, लेकिन पंजाब की टीम अपने 8 मैच खेल चुकी है। सातवें नबर पर कोलकाता नाइट राइडर्स है, जिसने 7 मैचों में सिर्फ दो मुकाबले जीते हैं, जबकि सबसे आखिर में सनराइजर्स हैदराबाद है, जो अपने पहले सात मैचों में एक मैच जीत पाई है।