इंसान ने 13 फीट लंबे अजगर की पूंछ को दांत से काटा, 3 घंटे चली लड़ाई

इंसान ने 13 फीट लंबे अजगर की पूंछ को दांत से काटा, 3 घंटे चली लड़ाई

आप ने इंसानों के बहादुरी के किस्से बहुत ज्यादा सुने होंगे, जिसमें शेर, बाघ या अन्य जंगली जानवरों के साथ दिल दहला देने वाले प्रयत्नकी दास्तां शामिल होगी. बहादुरी का किस्सा सामने आया है, जिसमें एक विशालकाय अजगर व एक इंसान के बीच प्रयत्न हुआ, वो भी करीब तीन घंटे तक. 13 फीट लंबे अजगर ने उस इंसान को जकड़ लिया था व धीरे-धीरे निगलने की प्रयास कर रहा था, लेकिन वह शख्स अजगर की गिरफ्त से कैसे बचा? यह जानना भी रोंगटे खड़े कर देने वाला है.

केन्या के रहने वाले बेन न्याउम्बे ने बताया कि उनका पैर जमीन पर एक स्पंज जैसी वस्तु पर पड़ा, तभी आकस्मित एक बड़े से अजगर ने उनके पैर को जकड़ लिया. उसके बाद अजगर बेन के सारे शरीर में लिपट गया व उसे एक पेड़ पर लेकर चढ़ गया, जहां दोनों के बीच करीब 3 घंटे तक प्रयत्न चला.

इस घटना के गवाह रहे कुछ ग्रामीणों ने बताया कि अजगर ने बेन के हाथों को जकड़ रखा था व धीरे-धीरे उसे निगलने की प्रयास कर रहा था.उधर बेन भी पूरी ताकत से खुद को उस विशालकाय सांप का निवाला बनने से बचने की प्रयास कर रहा था. उसने अपनी शर्ट से अजगर का मुंह कस रखा था ताकि वह उसे निगल न पाए. प्रयत्न के दौरान बेन ने अजगर की पूंछ को दांत से काटा था. उसने बताया कि अजगर की पूंछ का अंतिम सिरा बेहद नुकीला था.

सूचना पर घटनास्थल पर पहुंचे दो पुलिस वाले अजगर को गोली मारना चाहते थे, लेकिन उनको भय था कि वो गोली बेन को न लग जाए.पुलिस व गांव वालों की मदद से बेन बच गया. अजगर ने जब बेन के हाथों को जकड़ रखा था, उसी दौरान पुलिस व ग्रामीण बेन को अजगर की जकड़ से छुड़ाने में पास हो गए.

एक पुलिस ऑफिसर ने बताया कि अजगर का एक इंसान को घसीटकर पेड़ पर लेकर चढ़ जाना बेहद ही चौकाने वाला है. ऐसा पहले मैंने कभी नहीं सुना या देखा. पुलिस ने उस अजगर को मालिन्डी में एक सुरक्षित जगह पर रखा था, लेकिन वह अजगर वहां से भाग गया. पुलिस अब तक उस अजगर को खोज नहीं पायी है. यह घटना 2009 की है. यह समाचार एक बार फिर चर्चा में है.