मैं टीम के लिए अपना सहयोग देना चाहता हूं: रहाणे

मैं टीम के लिए अपना सहयोग देना चाहता हूं: रहाणे

भारतीय टेस्ट टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने वेस्टइंडीज दौरे पर 90.33 के औसत से 271 रन बनाए थे. अपने इस शानदार प्रदर्शन के बावजूद रहाणे का मानना है कि विंडीज दौरा बीते हुए कल की बात हो चुकी है. अब उनका ध्यान साउथ अफ्रीका के विरूद्ध होने वाली सीरीज टेस्ट सीरीज पर है.

रहाणे ने कहा, "मैं मौजूदा समय को देख रहा हूं. मैंने वेस्टइंडीज में कुछ किया था. मैं टीम के लिए अपना सहयोग देना चाहता हूं व अपने ऊपर दबाव नहीं लेना चाहता. वेस्टइंडीज में क्या हुआ, वह अब बीत चुका है व अब नयी आरंभ करना जरूरी है."

उप-कप्तान ने कहा, "मेरे लिए यह महत्वपूर्ण था कि मैं अपनी सीमा में रहूं व अपनी क्षमताओं पर विश्वास करूं. यह सब इससे जुड़ा था कि मैं कठिन परिरिस्थितियों में खुद को मानिसक रूप से कैसे मैनेज करता हूं, ताकि मैं टीम में अपना सहयोग दे सकूं."

टेस्ट सीरीज में मेजबान हिंदुस्तान को दावेदार माना जा रहा है लेकिन रहाणे का मानना है कि दक्षिण अफ्रीकी टीम भी सम्मान की हकदार है. रहाणे ने बोला कि उन्होंने तकनीकी बातों की स्थान मानसिक तथ्यों पर ध्यान देने की प्रयास की है.

उन्होंने कहा, "यह जरूरी है कि हम सीरीज जीतें, क्योंकि दुनिया टेस्ट चैंपियनशिप प्रारम्भ हो चुकी है. आप किसी भी टीम को हल्के से नहीं ले सकते. साउथ अफ्रीका में भी टेम्बा बवुमा, एडेन जैसे अच्छे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने एक्सरसाइज मैच में अच्छा किया है."