'लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की पराजय का कारण बाहर नहीं, बल्कि भीतर

'लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की पराजय का कारण बाहर नहीं, बल्कि भीतर

लोकसभा चुनाव में पराजय की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी के अंदर आवाज तेज होती जा रही है. पार्टी के वरिष्ठ नेता जनार्दन द्विवेदी ने नए अध्यक्ष के लिए अनौपचारिक कवायद की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने बोला कि राहुल को पद छोड़ने से पहले नए अध्यक्ष को लेकर कोई व्यवस्था बनानी चाहिए थी.

उनका बोलना है कि तकनीकी तौर पर राहुल गांधी अभी भी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष हैं, इसलिए उन्हें अपना उत्तराधिकारी नाम तय करने के लिए फौरन समिति का गठन करना चाहिए. उन्होंने जल्द से जल्द कांग्रेस पार्टी काम समिति (सीडब्ल्यूसी) की मीटिंगबुलाने की भी मांग की है.

जनार्दन द्विवेदी ने प्रेस क्लब में मीडिया से बात करते हुए राहुल गांधी की तारीफ की. पराजय के बाद राहुल गांधी के अपने पद से त्याग पत्र देने का जिक्र करते हुए उन्होंने बोला कि इस पराजय के लिए दूसरे नेता भी जिम्मेदार हैं. इन नेताओं को भी राहुल गांधी की तरह अपने पदों से त्यागपत्र देना चाहिए.

जनार्दन द्विवेदी ने बोला कि जिस संगठन में पूरा ज़िंदगी लगाया, उसकी स्थिति देखकर पीड़ा होती है. उन्होंने बोला कि कांग्रेस पार्टी की चुनाव में पराजय का कारण बाहर नहीं, भीतर है. पार्टी के नए अध्यक्ष के लिए चल रही कोशिशों पर सवाल उठाते हुए जनार्दन द्विवेदी ने फौरन कांग्रेस पार्टी कार्यसमिति (सीडब्लूसी) की मीटिंग बुलाने की मांग की.

उन्होंने बोला कि अभी यह पता नहीं चल रहा है कि कौन सी कॉर्डिनेशन समिति किससे बात कर रही है, किसके सुझाव ले रही है.उन्होंने बोला कि बेहतर होता कि अपना पद छोड़ने से पहले राहुल गांधी इस तरह की कोई समिति का गठन कर देते. सीडब्लूसी ने भी पिछले डेढ़ माह से इस बारे में कोई फैसला नही लिया है.