CM योगी हुए सख्त, कहा- भ्रष्ट अफसरों को जबरन दिया जाए VRS, नहीं हैं ऐसे लोगों की जरुरत

CM योगी हुए सख्त, कहा- भ्रष्ट अफसरों को जबरन दिया जाए VRS, नहीं हैं ऐसे लोगों की जरुरत

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट अधिकारियों के लिए कड़ा संदेश देते हुए गुरुवार (20 जून) को बोला कि ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों की सरकार में कोई स्थान नहीं है.सरकारी प्रेस रिलीज में बताया गया कि सीएम ने बोला कि ऐसे अधिकारियों के विरूद्धकार्रवाई होनी चाहिए व उन्हें जबरन स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दी जाए. योगी सचिवालय प्रशासन विभाग के कामकाज की समीक्षा कर रहे थे .

भ्रष्ट बाबुओं की तैयार की जाए सूचीः योगी ने अधिकारियों को आदेश दिया कि भ्रष्ट बाबुओं की सूची तैयार की जाए व सुझााव दिया कि उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए बाध्य किया जाए. सीएम ने ई-कार्यालय प्रणाली के काम में तेजी लाने की जरूरत पर जोर दिया.अधिकारियों को आदेश दिया कि प्रोन्नति, पदों को भरे जाने व कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति जैसे मुद्दों पर उचित कार्रवाई की जाए.

भ्रष्ट कर्मचारियों के विरूद्ध हो कार्रवाईः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को आदेश दिया कि भ्रष्ट कर्मचारियों के विरूद्ध ठोस कार्रवाई की जाए. उनकी प्रोन्नति रोक दी जाए व उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दे दी जाए. सीएम ने बोला कि सचिवालय में जल्द ही बायोमीट्रिक सिस्टम प्रारम्भ किया जाएगा. बताते चलें कि योगी की चेतावनी ऐसे समय में आई है, जब केन्द्र सरकार ने करप्शन के आरोप में 12 वरिष्ठ इनकम टैक्स अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया. इनमें एक संयुक्त आयुक्त रैंक का ऑफिसर है. यही नहीं उन्होंने बोला कि विधान भवन एवं सचिवालय से सम्बद्ध सभी भवनों में किसी बाहरी आदमी को मोबाइल फोन लेकर आने की इजाजत नहीं होनी चाहिए.साथ ही उन्होंने इन भवनों में सभी सेवाओं के सुचारु संचालन हेतु कार्ययोजना प्रस्तुत करने को भी बोला है.मुख्यमंत्री ने बोला कि लोक भवन के सभी सभागारों / सभाकक्षों का नामकरण किया जाए व नामकरण ऐसा हो, जो लोगों को प्रभावित व प्रेरित करे.