मनोरमा महापात्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख, बोले...

मनोरमा महापात्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख, बोले...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रख्यात लेखक और पत्रकार मनोरमा महापात्रा के निधन पर दुख व्यक्त किया। साथ ही कहा कि उन्होंने मीडिया में कई योगदान दिए हैं। उन्होंने कई मुद्दों को कवर किया। उन्हें उनके लेखन के लिए याद किया जाएगा।

पीएम ने कहा,' प्रसिद्ध साहित्यकार मनोरमा महापात्र जी के निधन से दुखी हूं। उन्हें कई मुद्दों पर उनके लेखन के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने मीडिया में भी समृद्ध योगदान दिया और व्यापक सामुदायिक सेवा की। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति ।

ओडिया दैनिक 'द समाज' के पूर्व संपादक मनोरमा महापात्रा का कलकत्ता में एससीबी मेडिकल कालेज और अस्पताल में निधन हो गया था। महापात्रा को सीने में दर्द की शिकायत के बाद उनका इलाज चल रहा था। वह 87 वर्ष की थीं। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।


पटनायक ने कहा, 'मैं प्रमुख लेखिका और डेली न्यूजपेपर समाज की पूर्व संपादक मनोरमा महापात्रा के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं। पत्रकारिता, सामाजिक कार्य, शिक्षा और महिला सशक्तिकरण में उनका योगदान अतुलनीय है।" बता दें कि मनोरमा 1934 में जन्मी थी। वह 1984 में साहित्य अकादमी पुरस्कार भी मिला था।

उधर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मिले उपहारों आनलाइन नीलामी चल रही है। इसको लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। पीएम मोदी ने रविवार को नागरिकों को उनके द्वारा प्राप्त उपहारों और स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया।


पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 'समय के साथ, मुझे कई उपहार और स्मृति चिन्ह मिले हैं जिनकी नीलामी की जा रही है। इसमें हमारे ओलंपिक नायकों द्वारा दिए गए विशेष स्मृति चिन्ह शामिल हैं। नीलामी में भाग लें। इससे मिलने वाला पैसा नमामि गंगे पहल में जाएगा। पीएम मोदी ने ई-नीलामी के लिए निर्धारित पोर्टल का लिंक भी साझा किया।


दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स के निदेशक डाक्टर रणदीप गुलेरिया ने जन-सामान्य को अनावश्यक डर और जमाखोरी जैसी गतिविधियों से बचने की सलाह दी है. डाक्टर गुलेरिया ने एक वीडियो संदेश में ओमिक्रॉन को लेकर स्थिति भी स्पष्ट की है.  

वर्तमान आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण है. इसमें ऑक्सीजन की जरूरत इतनी अधिक नहीं हो सकती. मैं सभी से ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाओं की जमाखोरी से बचने का निवेदन करूंगा. हम एक देश के रूप में इन मामलों में किसी भी उछाल की स्थिति का सामना करने के लिए बेहतर ढंग से तैयार हैं.

एक वीडियो संदेश में डाक्टर गुलेरिया ने बोला कि हम पर्सनल प्रतिरक्षा के दृष्टिकोण से भी तैयार हैं. हममें से बड़ी संख्या में लोगों को या तो टीकाकरण के कारण या प्राकृतिक संक्रमण के कारण प्रतिरक्षा मिली है. घबराएं नहीं, बस सावधान रहें. 

गुलेरिया के अतिरिक्त फोर्टिस, फरीदाबाद के डाक्टर रवि शेखर झा का बोलना है कि पिछले कुछ दिनों से ओमाइक्रोन के मामलों में उछाल आया है. इसकी इंफेक्शन रेट डेल्टा वेरिएंट से अधिक है. अभी तक इसके लक्षण ज्यादातर हल्के ही होते हैं. इसके लिए किसी विशिष्ट एंटीवायरल, स्टेरॉयड की जरूरत नहीं होती.