स्वाति मालीवाल के ट्वीट के बाद जागी मध्य प्रदेश पुलिस, तेजाब पीड़िता के लिए दिया बयान

स्वाति मालीवाल के ट्वीट के बाद जागी मध्य प्रदेश पुलिस, तेजाब पीड़िता के लिए दिया बयान

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के एक ट्वीट के बाद मंगलवार को यहां ग्वालियर में नवविवाहिता को तेजाब पिलाने के मामले में सरकार हरकत में आई। दिल्ली में कार्यपालिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पीडि़ता के बयान हुए और ग्वालियर पुलिस ने दो नई धाराएं और बढ़ा दी हैं। मालूम हो कि ग्वालियर जिला स्थित डबरा शहर में नवविवाहिता को 28 जून को तेजाब पिला दिया गया था। महिला के स्वजन का आरोप है कि ससुराल वाले कार खरीदने के लिए तीन लाख रुपये की मांग कर रहे थे। रुपये नहीं देने पर पति व जेठानी ने उनकी बेटी को तेजाब पिला दिया, जिससे उसके गले से लेकर पेट तक के आंतरिक अंग झुलस गए। पहले उसे ग्वालियर में भर्ती कराया गया। हालत बिगड़ने पर दिल्ली ले गए, जहां 13 दिन से वह लोक नारायण जयप्रकाश अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है।

महिला की मां ने घटना के पांच दिन बाद तीन जुलाई को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी, तब पुलिस ने दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज किया था। दिल्ली के कार्यपालिक मजिस्ट्रेट के सामने हुए बयान में पीडि़ता ने कहा कि उसकी जेठानी के पति से संबंध हैं। विरोध करने पर पति, जेठानी ने मिलकर उसे टॉयलेट में रखा पीला पदार्थ पिला दिया।


दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष के ट्वीट मचा हड़कंप

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज ¨सह चौहान को महिला के एसिड से झुलसे हुए अंगों का फोटो ट्वीट करते हुए लिखा कि 'ग्वालियर की लड़की को उसके पति ने एसिड पिलाया, जिससे उसके अंग जल गए। मप्र में एफआइआर हल्की हुई और कोई गिरफ्तार नहीं हुआ है। ट्वीट इसलिए किया है कि शिवराज सिंह चौहान अपराधियों को गिरफ्तार कराएंगे।' इसके बाद पुलिस हरकत में आई और जेठानी को गिरफ्तार कर लिया। पति व ननद को पकड़ने के लिए पुलिस पार्टी रवाना हो गई है। इधर, ग्वालियर एसपी अमित सांघी ने ट्वीट कर बताया कि प्रकरण में धाराएं बढ़ाई गई हैं। एक आरोपित को गिरफ्तार किया जा चुका है।


भारत में बीते 24 घंटों में सामने आए 39,097 नए मामले, 546 संक्रमितों की हुई मौत

भारत में बीते 24 घंटों में सामने आए 39,097 नए मामले, 546 संक्रमितों की हुई मौत

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की दर स्थिर-सी नजर आ रही है। पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन 30 से 40 हजार संक्रमित सामने आ रहे हैं। बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 39,097 नए मामले सामने आए हैं और 546 लोगों की इस दौरान मौत हुई है। 35,087 लोगों ने पिछले 24 घंटों में इस जानलेवा वायरस को मात दी है। अब तक भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 3,13,32,159 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, 546 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 4,20,016 हो गई है।

भारत में कोरोना वायरस संक्रमितों का रिकवरी रेट भी अच्‍छा है। 35,087 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 3,05,03,166 हो गई। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 4,08,977 रह गई है। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण को काबू में करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। एक तरफ कोरोना की जांच पर ध्‍यान दिया जा रहा है। वहीं, दूसरी ओर वैक्‍सीनेशन कार्यक्रम भी पूरी क्षमता के साथ चलाया जा रहा है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के मुताबिक, भारत में कल कोरोना वायरस के लिए 16,31,266 सैंपल टेस्ट किए गए, कल तक कुल 45,45,70,811 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 42,67,799 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 42,78,82,261 हो गया है।