खुशखबरी! सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, कुलगाम एनकाउंटर में ढेर किए इतने आतंकवादि

खुशखबरी! सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, कुलगाम एनकाउंटर में ढेर किए इतने आतंकवादि

जम्मू और कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने कुलगाम में तीन अज्ञात आतंकवादियों को मार गिराया है। पुलिस ऑफिसर ने बताया कि कुलगाम के मिरहमा इलाके में सुरक्षाबलों को आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद सर्च ऑपरेशन प्रारम्भ किया गया।

इसी दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की। इसके बाद कार्रवाई में तीन आतंकवादी मारे गए। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बोला कि ऑपरेशन अब भी जारी है।

बुधवार को अनंतनाग जिले में भी सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच एनकाउंटर हुई। इस दौरान एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। पुलिस के एक ऑफिसर ने बोला कि आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में मिली गुप्त सूचना के आधार पर जिले के दूरु के नौगांम शाहबाद में सुरक्षा बलों द्वारा घेराबंदी और तलाशी अभियान प्रारम्भ किया गया और इस दौरान आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच एनकाउंटर हुई।


दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स के निदेशक डाक्टर रणदीप गुलेरिया ने जन-सामान्य को अनावश्यक डर और जमाखोरी जैसी गतिविधियों से बचने की सलाह दी है. डाक्टर गुलेरिया ने एक वीडियो संदेश में ओमिक्रॉन को लेकर स्थिति भी स्पष्ट की है.  

वर्तमान आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण है. इसमें ऑक्सीजन की जरूरत इतनी अधिक नहीं हो सकती. मैं सभी से ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाओं की जमाखोरी से बचने का निवेदन करूंगा. हम एक देश के रूप में इन मामलों में किसी भी उछाल की स्थिति का सामना करने के लिए बेहतर ढंग से तैयार हैं.

एक वीडियो संदेश में डाक्टर गुलेरिया ने बोला कि हम पर्सनल प्रतिरक्षा के दृष्टिकोण से भी तैयार हैं. हममें से बड़ी संख्या में लोगों को या तो टीकाकरण के कारण या प्राकृतिक संक्रमण के कारण प्रतिरक्षा मिली है. घबराएं नहीं, बस सावधान रहें. 

गुलेरिया के अतिरिक्त फोर्टिस, फरीदाबाद के डाक्टर रवि शेखर झा का बोलना है कि पिछले कुछ दिनों से ओमाइक्रोन के मामलों में उछाल आया है. इसकी इंफेक्शन रेट डेल्टा वेरिएंट से अधिक है. अभी तक इसके लक्षण ज्यादातर हल्के ही होते हैं. इसके लिए किसी विशिष्ट एंटीवायरल, स्टेरॉयड की जरूरत नहीं होती.