सोशल मीडिया पर स्टूडेंट्स कर रहे दोनों टर्म्स में बेहतर रिजल्ट की मांग

सोशल मीडिया पर स्टूडेंट्स कर रहे दोनों टर्म्स में बेहतर रिजल्ट की मांग

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी की सीबीएसई की ओर से कक्षा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं पूरी कर ली गई है. अब विद्यार्थियों को परीक्षा के परिणाम का इन्तजार है. राष्ट्र के करीब सभी प्रमुख राज्यों के शिक्षा बोर्ड ने अपने-अपने राज्यों में दसवीं और बारहवीं के परिणाम की घोषणा कर दी गई है.

सीबीएसई के विद्यार्थी भी अब अपने परिणाम जल्द से जल्द जारी करने की मांग कर रहे हैं. अनुमान के अनुसार देशभर के हजारों केंद्रों पर करीब 35 लाख विद्यार्थियों ने दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में भाग लिया था.

कब तक आएगा रिजल्ट

सीबीएसई की ओर से अब तक परिणाम जारी करने को लेकर किसी भी ऑफिशियल डेट की घोषणा नहीं की गई है. हालांकि, विभिन्न मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि दसवीं का परिणाम जून के आखिर और 12वीं का परिणाम जुलाई महीने के दूसरे सप्ताह तक जारी किया जा सकता है.

बोर्ड की ओर से दसवीं के कॉपियों की चेकिंग का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है. परिणाम को औनलाइन माध्यम से बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी किया जाएगा. विद्यार्थी किसी भी नए अपडेट और जानकारी के लिए बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर नजर बना कर रखें.

छात्र कर रहे यह मांग

ऐसी खबरें थी कि सीबीएसई ने विद्यार्थियों के आखिरी रिज़ल्ट को 30 प्रतिशत टर्म-1 और 70 प्रतिशत टर्म-2 में प्रदर्शन के आधार पर बनाने का निर्णय किया है. हालांकि, आगे जाकर सीबीएसई ने इसे गलत बताया था. अभी विद्यार्थी सोशल मीडिया पर ट्रेंड चला रहे हैं. विद्यार्थियों की मांग है कि उन्हें दोनों टर्मों में सबसे बेहतर का परिणाम मिले. ट्विटर पर विद्यार्थी #CBSEconsiderBestOfEitherTerms नाम से हैशटैग भी चला रहे हैं. हालांकि, बोर्ड की ओर से अब तक इस मांग पर कोई भी रिएक्शन सामने नहीं आया है.