बिहार सरकार ने कुछ चुनिंदा कैदियों को रिहा करने का किया है फैसला

बिहार सरकार ने कुछ चुनिंदा कैदियों को रिहा करने का किया है फैसला

बिहार गवर्नमेंट ने राष्ट्र की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य पर कुछ चुनिंदा श्रेणियों के ऐसे कैदियों को रिहा करने का निर्णय किया है जिन्होंने अपनी कारागार की आधी सजा काट ली है.

पटना. बिहार गवर्नमेंट ने राष्ट्र की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य पर कुछ चुनिंदा श्रेणियों के ऐसे कैदियों को रिहा करने का निर्णय किया है जिन्होंने अपनी कारागार की आधी सजा काट ली है.
बिहार के विधि मंत्री प्रमोद कुमार ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि राज्य के गृह विभाग की एक जांच समिति को कैदियों की रिकॉर्ड की समीक्षा करने तथा सजा में विशेष छूट दिए जाने के योग्य कैदियों की पहचान करने का निर्देश दिया गया है.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया.

मंत्री ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘यह राज्य गवर्नमेंट द्वारा लिया गया प्रमुख निर्णय है. अपनी कारागार की आधी सजा काट चुके कुछ चुनिंदा श्रेणियों के कैदियों को रिहा किया जाएगा. गृह विभाग की राज्य स्तरीय जांच समिति को कैदियों के रिकॉर्ड की समीक्षा करने और बिहार में विभिन्न जेलों में इस छूट के लिए योग्य कैदियों की पहचान करने का निर्देश दिया गया है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘समिति यह सुनिश्चित करेगी कि कुख्यात अपराधी, बार-बार क्राइम करने वाले क्रिमिनल और प्रतिबंधित श्रेणियों में आने वाले कैदी इस खास छूट के दायरे में नहीं आएंगे.’’
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को राष्ट्र की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के उत्सव अनुसार कुछ श्रेणियों के कैदियों को विशेष छूट देने को बोला है.