मानसून आगमन में 2-3 दिन की हो सकती है देरी

मानसून आगमन में 2-3 दिन की हो सकती है  देरी

इंदौर (मध्य प्रदेश): पाक पर पड़े पश्चिमी विक्षोभ का असर समाप्त होने के साथ ही इंदौर में शुक्रवार शाम से प्री-मानसून गतिविधियों में वृद्धि देखने को मिलेगा. क्षेत्रीय मौसम विभाग के ऑफिसरों के अनुसार, इंदौर में अगले कुछ दिनों तक हवा के साथ मामूली बारिश होगी और तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहेगा.

“उत्तरी अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण हो रहा है, जो मानसून को राष्ट्र के अन्य हिस्सों की ओर धकेलने में सहायता करता है. हालांकि, पाक पर पश्चिमी विक्षोभ चक्रवाती परिसंचरण के असर को कम करेगा, जिसके कारण इंदौर जिले में मानसून की आरंभ में दो-तीन दिन की देरी होगी, ”भारतीय मौसम विभाग, भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने कहा.

सिंह ने बोला कि पहले इंदौर में मानसून का आगमन 15 जून को होने की आशा थी, लेकिन यह 18 से 20 जून के बीच होगा. “मानसून 15 जून तक इंदौर मंडल में बड़वानी और खरगोन सहित पश्चिमी क्षेत्रों में पहुंच जाएगा, लेकिन 18 जून को इंदौर में स्थापित होगा, ”सिंह ने कहा.

इस बीच गुरुवार को तापमान 39.7 डिग्री सेल्सियस सामान्य रहा, जबकि रात का तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक था दिन भर बादल छाए रहने से वातावरण में उमस बनी रही और दोपहर तक तापमान बढ़ता रहा, लेकिन शाम को ठंडी हवा ने मौसम को सुहाना बना दिया. दिन के अधिकतर समय पश्चिम और उत्तर-पश्चिम से हवाएं चलीं. सुबह और शाम की नमी क्रमश: 66 प्रतिशत और 28 प्रतिशत रही