पिस्ता होता है अन्य मेवों की तुलना में फैट की मात्रा कम, पढ़े

पिस्ता होता है अन्य मेवों की तुलना में फैट की मात्रा कम, पढ़े

यदि बात करें तो दुनिया में सबसे ज्यादा पिस्ता ईरान में होता है. अमेरिका, सिरिया, तुर्की और चीन भी पिस्ता की खेती करते हैं. ईरान में पैदा होने वाले पिस्ता में लिनोलिक एसिड अधिक होता है जबकि तुर्की के पिस्ता में कैल्शियम ज्यादा मात्रा में पाई जाती है.

पिस्ता में अन्य मेवों की तुलना में फैट की मात्रा कम पाई जाती है. इसलिए दूसरे मेवों की तुलना में यह ज्यादा पोषक माना जाता है. इसमें कैलोरी मात्रा भी काजू, बादाम और अखरोट से कम होती है. वहीं, इसमें पोटैशियम, विटामिन K,विटामिन B6,विटामिन E के साथ फीटो केमिकल्स भरपूर मात्रा में होते हैं.

पिस्ता आप सभी नट्स के फायदो के बारे में  बहुत ही अच्छे से जानते हैं, तो हमारे मन में पिस्ता, बादाम, काजू का नाम याद आता है. नट्स के न केवल कई उपयोग हैं, जबकि कई स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं. यदि हम विशेष रूप उपयोग होने वाले पिस्ता की बात करें तो, पिस्ता कुल्फी, पिस्ता बादाम दूध, पिस्ता मिठाई और डेसर्ट बनाने में इनका खूब इस्तेमाल किया जाता है. नट्स में काफी एंटीऑक्सिडेंट और ऊर्जा का अच्छा स्रोत होते हैं. इनमें किसी में कैलोरी काफी अधिक तो किसी में काफी कम होती है. एक नए विश्लेषण से पता चला है कि पिस्ता को न सिर्फ प्रोटीन युक्त माना जा सकता है, जबकि इसे 'संपूर्ण प्रोटीन' का स्रोत माना जाता है, खासकर उन लोगों के लिए जो पशु-आधारित प्रोटीन से पौधे से मिलने वाले प्रोटीन को अपनाना चाहते हैं.


 दरअसल कैलिफोर्निया में अमेरिकी पिस्ता ग्रोअर्स एनुअल कॉन्फ्रेंस में आईएएनएस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह घोषणा की गई थी, "अमेरिका में भुना हुआ पिस्ता आम तौर पर 'पूर्ण प्रोटीन' के रूप में उगाया जाता है, जिसका अर्थ है कि वे पिस्ता प्रोटीन जैसे छोले, और सोयाबीन के रैंक में सम्मलित होते हैं जो वेजिटेरियन में काफी पॉपुलर हैं. वहीं, रिपोर्ट कहती है कि अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन द्वारा पिस्ता पूर्ण प्रोटीन है. एफडीए के मुताबिक, एक पूर्ण प्रोटीन वह भोजन है जिसमें "सभी आवश्यक अमीनो एसिड पर्याप्त मात्रा में" होते हैं.