कान के ऊर्जा बिंदु को दबाने से मिलता है इन रोगो से निजात

कान के ऊर्जा बिंदु को दबाने से मिलता है इन रोगो से निजात

महिलाओं में कान छेदने की प्रथा का वैज्ञानिक महत्त्व एक्यूप्रेशर से है. इयर लोब्स (लर) के बीच में कई ऐसे प्रेशर पॉइंट्स हैं जो महिला व पुरुष दोनों के प्रजनन अंगों को स्वस्थ बनाने व उन्हें एकाग्र रखने में भी मदद करते हैं.

अगर किसी आदमी को सर्दी से सीने में दर्द या हार्ट संबंधी समस्या है तो ऐसे लोगों के तुरंत कान की लर (कान के नीचे का बिना हड्डी वाला भाग जहां महिलाएं कान में छेद करवाकर बाली पहनती हैं) को दबाना चाहिए. इससे मरीज को आराम मिलता है. इसके बाद मरीज को तुरंत हॉस्पिटल ले जाना चाहिए.

कान की लर में हार्ट को स्वस्थ रहने वाले एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते हैं. लेकिन इसमें ध्यान रखने की बात यह है कि इसका लाभ तभी तक होता है जब तक की हार्ट अटैक न हुआ हो. यदि नियमित शरीर की ठीक ढंग मालिश शुद्ध सरसों के ऑयल से करें व मालिश करते समय कान के भी इस पॉइंट्स को दबाएं तो दिल रोगों से बचाव होगा. कान के इस हिस्से को दबाने से दिमाग एक्टिव रहता है. आंखों की लाइट अच्छा रहती है. साफ सुनाई देता है.