इसका रस पिने से मिलता है कई बीमारियों से सुरक्षा, जाने

इसका रस पिने से मिलता है कई बीमारियों से सुरक्षा, जाने

इस समय जब हम सब अपने घरो में रह रहे है और बिना किसी वर्क आउट के यह रहे है ऐसे में इम्युनिटी को एक्टिवट करने के लिए आयुर्वेद तरीके पाए जाते है जो की गिलोय म है। गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है

जिसका इस्तेमाल कई वर्षों से अनेक बीमारियों के इलाज में किया जाता रहा है। वैसे तो गिलोय के कई लाभ हैं लेकिन इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इस जड़ी बूटी से इम्यूनिटी पॉवर बढ़ती है। अगर व्यक्ति की इम्यूनिटी पॉवर ही बढ़ जाए तो उसे अपने आप ही कई बीमारियों से सुरक्षा कवच प्राप्त हो जाता है। अगर आपको बार-बार सर्दी-जुकाम, खांसी रहती है या जल्दी बुखार पकड़ लेता है तो आपकी इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है। इम्यूनिटी पॉवर को बढ़ाने के लिए पूरे ब्रह्मांड में गिलोय से अचूक औषधि और कोई नहीं है। गिलोय का रस पीने से कई बीमारियों से सुरक्षा मिलती है। गिलोय से मिलाने वाले लाभ इस प्रकार है  .......

​इम्यूनिटी बढ़ानेगिलोय को गुडुची और अमृता नाम से भी जाना जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स प्रचुरता में होते हैं जो कि फ्री-रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं और कोशिकाओं को स्वस्थ एवं बीमारियों से दूर रखते हैं। इस समय कोरोना वायरस से बचने के लिए इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है और गिलोय इसका सबसे आसान एवं असरकारी तरीका है।

 
​बुखार का देसी इलाजबार-बार बुखार की समस्या से गिलोय छुटकारा दिला सकता है। इसमें बुखार-रोधी गुण होते हैं और इसीलिए डेंगू, मलेरिया और स्वाइन फ्लू जैसी जानलेवा बीमारियों के लक्षणों को कम करने के लिए गिलोय का इस्तेमाल किया जाता है।

​कब्जपाचन में सुधार लाने में भी गिलोय बहुत लाभकारी होता है। कब्ज से राहत पाने के लिए भी गिलोय का सेवन किया जा सकता है। अगर आपको कब्ज की समस्या रहती है तो आप गिलोस के रस का सेवन कर सकते हैं।

​डायबिटीजइम्यूनिटी बढ़ाने के साथ-साथ गिलोय डायबिटीज का भी इलाज करती है। गिलोय हाइपोग्लाइसेमिक यौगिक के रूप में कार्य करती है और टाइप 2 डायबिटीज के इलाज में मददगार है। गिलोय का जूस ब्लड शुगर के उच्च स्तर को कम करने में मदद करता है।

​तनावगिलोय में मानसिक तनाव और एंग्जायटी को भी कम करने की शक्ति होती है। ये शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालती है और याद्दाश्त बढ़ाती है।