सर्दियों में दूध में घी डालकर पीने से दर्द हो जाएगा छूमंतर

सर्दियों में दूध में घी डालकर पीने से दर्द हो जाएगा छूमंतर

ठंड में अक्सर लोग तरह-तरह की समस्याओं से परेशान रहते हैं। कुछ लोगों को सर्दियां आते ही जोड़ों और हड्डियों में दर्द की समस्या रहती है। ऐसे कई घरेलू तरीका हैं जो आपको जोड़ों के दर्द (Joint Pain) में राहत दिला सकते हैं। इसके लिए आप ठंड में गर्म दूध में एक चम्मच घी डालकर पी सकते हैं। घी वाला दूध पीने से शरीर को कई तरह के फायदे मिलते हैं। इससे नींद की समस्या दूर हो जाती है। रोगप्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनती है और अच्छी नींद आती है। आयुर्वेद में भी स्वस्थ और मजबूत शरीर पाने के लिए घी का सेवन करने का महत्व है। आपको रात में दूध में घी डालकर पीना चाहिए। जानते हैं इसके फायदे।

1- जोड़ों के दर्द में राहत- यदि आपको जोड़ों में दर्द रहता है तो आपको घी और दूध का सेवन जरूर करना चाहिए। इस तरह का दूध ज्वाइंट में इन्फ्लामेशन को कम करता है और सूजन में आराम पड़ता है। इस दूध से हड्डियां भी मजबूत होती हैं। इस दूध को पीने से ज्वाइंट पेन में आसाम पड़ता है।

2- अच्छी नींद आती है- यदि आप रात को सोने से पहले एक कप गर्म दूध में घी डालकर पीते हैं तो इससे हमारे दिमाग की नसें शांत होती है। इस तरह दूध पीने से आपको बहुत ज्यादा रिलैक्स मिलेगा और अच्छी नींद आने में सहायता मिलेगी। घी खाने से स्ट्रेस कम होता है और मूड भी अच्छा रहता है।

3-डायजेशन अच्छा रहता है- दूध में घी डालकर पीने से शरीर के अंदर एंजाइम्स रिलीज होते हैं जिससे पाचन शक्ति बढ़ाती है। ये एंजाइम बेहतर डायजेशन में सहायता करते हैं और पेट की समस्याएं समाप्त होने लगती हैं।

4- मेटाबॉलिज्म बढ़ता है- एक ग्लास दूध में घी डालकर पीने से डायजेशन पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है। इससे मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और डायजेशन सिस्टम अच्छा रहता है। पेट में गैस बनने से लेकर मुंह में छाले में आसाम मिलता है।

5- स्कीन मॉस्चुराइज रहती है- स्वस्थ और चमकदार स्कीन के लिए आप घी मिला दूध पीएं। इससे हमारी स्कीन को कई फायदे मिलते हैं। घी और दूध दोनों ही प्राकृतिक मॉइस्चराइजर हैं जो नेचुरली स्किन को नरिश और मॉस्चुराइज करने का कार्य करते हैं। यदि आप रोज दूध में घी डालकर पीएंगे तो एजिंग कम होती है और ड्राइनेस भी दूर होता है।

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है। इनको केवल सुझाव के रूप में लें। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


आपकी सेहत के लिए बेहद लाभदायक है ग्रीन टी और ब्लैक टी का सेवन: स्टडी

आपकी सेहत के लिए बेहद लाभदायक है ग्रीन टी और ब्लैक टी का सेवन: स्टडी

 अक्सर आप चाय का सेवन तो करते ही होंगें क्योंकि हिंदुस्तान में चाय का सेवन बहुत ही अधिक मशहूर होता है,लेकिन क्या आपको पता है कि अधिक मात्रा में दूध से बनी चाय का सेवन आपको नुकसान भी पंहुचा सकता है,इसलिए प्रयास करनी चाहिए कि इनके अधिक सेवन को अवॉयड करना चाहिए.

लेकिन क्या आपको पता है कि यदि आप ग्रीन टी या ब्लैक टी को डाइट में शामिल करते हैं तो ये स्वास्थ्य को स्वस्थ बना के रखने में बहुत ही अधिक लाभदायक हो सकते हैं वहीं इनके सेवन से आपका ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है. हाल ही में हुए कैलफोर्निया विश्विद्यालय के नए अध्यन के मुताबिक इस बात का खुलासा हुआ है कि ग्रीन टी और ब्लैक टी का सेवन हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में बहुत ज्यादा अधिक लाभदायक साबित हो सकता है. वहीं इनके सेवन से आपका हार्ट भी लंबे समय तक स्वस्थ बना रहता है और कई बीमारियां भी दूर रहती हैं.

आपको बताते चलें कि अध्यन पत्रिका सेलुलर फिजीयोलॉजी और जैव रसायन, जेफ्री एबट, मेडिसिन की यूसीआई स्कूल में प्रोफेसर के नेर्तत्व में प्रकाशित हुआ था, इस रिसर्च में इस बात का पता चला था कि ब्लैक टी और ग्रीन टी इन दोनों चायों में ही एक "कैटेचिन" नामक तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, इनका सेवन ब्लड सेल्स को आराम देने में मददगार होते हैं, और ये बहुत ज्यादा हद तक बढ़े हुए रक्तचाप को कंट्रोल करने में सहायक होते हैं, और कैटेचिन नामक तत्व दिल की स्वास्थ्य को स्वस्थ बना के रखने में बहुत ही अधिक सहायक होते हैं.


अध्यन में आगे बताया गया है कि ब्लैक और ग्रीन टी ये दोनों ही एंटी- हाइपरटेंसिवे गुणों से भरपूर होती हैं और ये ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने में भी सहायक होती हैं, अध्यन के मुताबिक इस बात का भी जिक्र किया गया है कि हाई ब्लड प्रेशर की रोग आजकल एक आम रोग बन गई है जिससे न केवल बढ़ते हुए आयु के लोग पीड़ित हैं बल्कि कम आयु के लोग भी इस रोग से ग्रसित हैं. हाई ब्लड प्रेशर को यदि प्रारम्भ से कंट्रोल नहीं किया जाता है तो ये आगे चलकर हार्ट अटैक और स्ट्रोक के जैसी गंभीर रोग को उत्पन्न कर सकता है इसलिए आपको आरंभ से ही अपनी डाइट और लाइफस्टाइल के ऊपर ध्यान देने की आवश्यकता होती है. ऐसे में यदि आप ग्रीन टी या ब्लैक टी का सेवन करते हैं तो ये रक्तचाप को कंट्रोल करने में सहायक हो सकते हैं.