इन तरीको से करे ख़राब अंडो की जाँच

इन तरीको से करे ख़राब अंडो की जाँच

कुछ चीजें परएक्सपायरी डेट देखते हैं. इससे हमें पता चलता है कि वो सामान कब का बना है व कब तक बेकार नहीं होगा. पर कुछ चीजें ऐसी भी होती जिनकी जाँच करना मुश्‍किल होता है. उनमें से एक है अंडा. अंडे को हम खरीदते है तो उसपर एक्सपायरी डेट नहीं लिखी होती है, खासकर लोकल दुकानों में मिलने वाले अंडों में एक्सपायरी डेट नहीं होता है. साथ ही आपको पता होगा कि एक निश्चित समय के बाद अंडे बेकार हो जाते हैं. अंडे की एक्सपायरी डेट का पता लगा पाना थोड़ा कठिन कार्य है. ऐसे में कैसे पता चलेगा कि अंडा फ्रैश है या नहीं? तो आइए इन उपायों से जानें अंडा फ्रैश है या नहीं.

अंडे चेक करने का उपाय :वैसे अंडे की एक्सपायरी डेट का पता लगाने के लिए हमें दो चीजों पर ध्यान देना ही होगा.पहला सूंघने व दूसरा देखने पर. इसके लिए आपको एक टेस्ट करना होगा, जिसे फ्लोटिंग टेस्ट कहते हैं. ये अंडों को बिना फोड़े उनकी फ्रेशनेस चेक करने का सबसे अच्छा उपाय है. आइए जानते हैं कि इस टेस्ट को करने का तरीका. इसके लिए एक बर्तन में ठंडा पानी भरें व फिर इसमें अंडों को डाल दें. अगर ये नीचे डूब जाते हैं व किनारे पर सीधे लेट जाते हैं, तो ये अंडे बिल्‍कुल ताजे हैं. अगर अंडे पानी में नीचे जाकर खड़े हो जाते हैं, तो समझ जाइए कि अंडे कुछ सप्ताह पुराने हैं व खाने लायक हैं. वहीं, अगर अंडे पानी की सतह पर ही तैर रहे हैं तो समझ लें की वो बेकार हो चु‍के हैं व उन्हें नहीं खाना चाहिए.

स्टोर करने का उपाय :फ्रिज में नहीं रखें हुए अंडों की आयु सात से दस दिन की होती है, जबकि फ्रिज में रखे हुए अंडों की आयु तीस से से पैतालीस दिन तक की होती है. ये अंडों की आइडियल जीवन होती है.अंडे अगर फ्रिज में ठीक से रखे हो तो ये पांच से छह सप्ताह तक चल सकते हैं. इनको फ्रिज करने का सबसे बढ़िया उपाय ये है कि जिस कार्टन में अंडे आते हैं, इनको वैसे ही फ्रिज में रख दिया जाए. ऐसे इनका तापमान एक समान बना रहता है.अगर संभव हो तो अंडों को एक समान तापमान पर ही ट्रांसपोर्ट करना चाहिए. ठंड के मौसम में ये तापमान 21°C से 23°C, वहीं गर्मी के मौसम में ये 19°C से 21°C होना चाहिए. अंडों को फ्रिजर में रखने से साल्मोनेला का खतरा कम हो जाता है. इससे अंडे लंबे समय तक फ्रेश रहते हैं.