क्या है नेशनल पेंशन सिस्टम, क्या इसके तहत निवेश से मिलता है टैक्स बेनिफिट का फायदा

क्या है नेशनल पेंशन सिस्टम, क्या इसके तहत निवेश से मिलता है टैक्स बेनिफिट का फायदा

NPS यानी की नेशनल पेंशन सिस्टम को लेकर कई लोगों के मन में अक्सर ही यह सवाल आता है कि, क्या नेशनल पेंशन सिस्टम टैक्स छूट के अंतर्गत आता है या नहीं? या फिर NPS खाता किस तरह से खोला जा सकता है? आपको अपने इन सवालों के जवाब के लिए इस खबर को पढ़ना बेहद ही जरूरी है।

टैक्स और इनवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन के अनुसार "मौजूदा वक्त में NPS पूरी तरह से टैक्स फ्री नहीं है। हालांकि आप अपने NPS खाते में किए गए योगदान के लिए धारा 80CCD(1) और 80CCD(1B) के तहत कटौती का दावा किया जा सकता है। खाते की निरंतरता के दौरान अर्जित आय भी कर मुक्त है। हालांकि NPS खाते की परिपक्वता के समय जमा हुई कुल राशि का केवल 60 फीसद ही टैक्स फ्री किया जा सकता है। बाकी के 40 फीसद के लिए आपको जीवन बीमा कंपनी से एक एनुइटी को खरीदना होगा। हासिल होने वाली एनुइटी प्राप्त होने वाले वर्ष में पूरी तरह से टैक्स के योग्य है। इस तरह से NPS को पूरी तरह से टैक्स फ्री नहीं माना जा सकता है।"

"हालांकि भले ही आपके नियोक्ता के पास NPS ना भी हो तो भी आप NPS अकाउंट खुलवा सकते हैं और NPS खाते में किए गए योगदान के तहत कटौती का दावा भी कर सकते हैं। आप सेक्शन 80CCD(1) के तहत 1.50 लाख रुपये तक की कटौती का दावा कर सकते हैं। इसके अलावा आप सेक्शन 80 CCD(1B) के तहत 50 हजार रुपये तक के विशेष छूट का दावा कर सकते हैं।"

क्या है राष्ट्रीय पेंशन योजना

सरकार द्वारा लोगों को उनके रिटायरमेंट के बाद पेंशन का फायदा देने के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना National Pension Scheme की शुरुआत की गई थी। NPS के तहत दो तरह के खाते आते हैं। NPS टियर- I खाता लॉक-इन-पीरियड के साथ है और यह प्राइमरी अकाउंट है। NPS टियर- II में कोई लॉक-इन अवधि नहीं है और यह ऑप्शनल है। यह ग्राहकों को टैक्स-बचत का बेनिफिट भी देता है।


सावधान! Jio यूजर्स के बैंक खातों में सेंध लगा रहे साइबर क्रिमिनल्स, यहां जाने कैसे करें बचाव?

सावधान! Jio यूजर्स के बैंक खातों में सेंध लगा रहे साइबर क्रिमिनल्स, यहां जाने कैसे करें बचाव?

Jio Scam Alert :देश में साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud) के मुद्दे तेजी से बढ़ रहे हैं। साइबर क्रिमिनल्स (Cyber Criminals) रोज भिन्न-भिन्न उपायों से लोगों के बैंक खातों (Bank Account) में सेंध लगा रहे हैं।

कभी बैंक ऑफिसर बनकर केवाईसी (KYC) के नाम पर तो कभी नौकरी (Job) के नाम पर। पिछले कुछ दिनों से ठग जियो (Jio) के कस्टमर को e-KYC के नाम पर चूना लगा रहे हैं। इस तरह के कई मुद्दे सामने आ चुके हैं। लगातार मिलती शिकायतों के बाद रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने अब अपने ग्राहकों को एक अलर्ट जारी किया है। इसमें इस तरह के फ्रॉड (Fraud) से बचने के टिप्स भी दिए गए हैं। आइए जानते हैं किस तरह हो रही है जियो कस्टमर से ठगी और इससे कैसे बच सकते हैं।

इस तरह हो रही है ठगी

अभी तक ठगी के कई ऐसे केस सामने आए हैं, जिनमें यूजर्स के पास एक कॉल (Call) आती है और कॉल करने वाला स्वयं को जियो का एग्जिक्यूटिव बताता है। वह e-KYC न कराने पर सिम (Sim) बंद होने की बात कहता है। कॉल करने वाला घर बैठे औनलाइन ही केवाईसी (Online KYC) करने का झांसा देता है। इसके बाद वह लिंक (Link) भेजकर, रिमोट ऐप (Remote App) डाउनलोड कराके या फिर ओटीपी (OTP) के जरिए यूजर्स के बैंक एकाउंट (Bank Account) में सेंध लगा देता है।

इस तरह कर सकते हैं बचाव

इस तरह की ठगी से बचने के लिए सतर्कता महत्वपूर्ण है। रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने भी इस विषय में कस्टमर्स को चेतावनी देते हुए कुछ टिप्स भी दिए हैं।

1. e-KYC के झांसे में न आएं

ग्राहकों को अलर्ट जारी करते हुए जियो ने बोला है कि e-KYC वैरिफिकेशन (Verification) के लिए आने वाले किसी भी कॉल (Call) या मैसेज (Message) पर ध्यान न दें। इस तरह के कॉल या मैसेज में आपको एक नंबर पर कॉल करने के लिए बोला जाता है और इसके बाद आपको झांसे में लेकर ठगी की जाती है। ऐसे में इस तरह केवाईसी (KYC) के चक्कर में न पड़ें। यदि केवाईसी करानी है तो जियो स्टोर (Jio Store Near Me) पर ही जाएं।

2. KYC के लिए कोई भी ऐप न करें डाउनलोड

ठग पहले आपको भरोसे में लेते हैं और फिर KYC अपडेट करने के बहाने आपसे एक ऐप डाउनलोड (App Download) करने को कहते हैं। यह रिमोट ऐप (Remote App) होता है, जिससे आपके फोन का एक्सेस उन्हें मिल जाता है और फिर वह रुपये ट्रांसफर कर लेते हैं। इसलिए यदि ऐसी कोई भी कॉल आए और आपसे ऐप डाउनलोड करने को बोला जाए तो उसे नजरअंदाज करें।

3. कॉल पर किसी को भी न दें पर्सनल और महत्वपूर्ण जानकारी

रिलायंस (Reliance) ने अपने कस्टमर से ये भी अपील की है कि वे अपनी पर्सनल और महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आधार नंबर (Adhar), ओटीपी (OTP), बैंक एकाउंट नंबर (Bank Account) आदि को किसी से भी शेयर न करें। इस तरह के कई केस आए हैं जिनमें ठगों ने स्वयं को जियो का कस्टमर केयर ऑफिसर बताकर ऐसी डिटेल्स लेकर ठगी की है।

4. कनेक्शन बंद होने के झांसे में न आएं

कंपनी ने ये भी बोला है कि यदि आपके पास आपका नंबर बंद होने के विषय में कोई कॉल या मैसेज आए तो सावधान होने की आवश्यकता है। ऐसे मैसेज में यदि किसी नंबर का जिक्र हो और उस पर कॉल करने को बोला जाए तो समझ लीजिए कि वह फ्रॉड (Fraud) है। इस तरह सिम (SIM) बंद नहीं होता, यदि सिम बंद भी हो जाता है तो आप जियो सर्विस पॉइंट पर जाकर उसे सक्रिय ेट (SIM Activate) करा सकते हैं।

5. किसी अनजान लिंक पर क्लिक न करें

जियो ने ग्राहकों से किसी अनजान लिंक (Link) पर क्लिक (Click) न करने की भी अपील की है। इस तरह के लिंक e-KYC के नाम पर भेजे जाते हैं। इसमें कस्टमर से बोला जाता है कि आपको लिंक पर क्लिक करके घर बैठे केवाईसी (KYC) की सुविधा मिल जाएगी। कंपनी का बोलना है कि कंपनी या उसके ऑफिसर कभी भी कस्टमर्स को My JIo ऐप के अतिरिक्त किसी अन्य थर्ड पार्टी ऐप को डाउनलोड करने के लिए नहीं कहेगा।