इन लाखों कर्मचारियों को भी अगस्‍त में होगा डबल फायदा, मोदी सरकार ने दिया ग्रीन सिग्‍नल

इन लाखों कर्मचारियों को भी अगस्‍त में होगा डबल फायदा, मोदी सरकार ने दिया ग्रीन सिग्‍नल

मोदी सरकार के अधीन आने वाले विभागों में काम कर रहे लाखों कर्मचारियों के लिए अच्‍छी खबर है। उनके यहां भी महंगाई भत्ते (DA)में बढ़ोतरी का फैसला लागू हो गया है। इससे अगस्‍त में कर्मचारियों की सैलरी में इजाफा होगा। जिन विभागों में DA में इजाफा लागू किया गया है, उनमें Indian Railways, Department of Post और Central Public Sector enterprises (CPSE) शामिल हैं। यहां काम करने वाले कर्मचारियों को महंगाई भत्ते (DA)में बढ़ोतरी के साथ HRA में उछाल का फायदा मिलेगा। बता दें कि सरकार ने DA रेट के 28 फीसद पर पहुंचने के बाद HRA में भी बढ़ोतरी कर दी है। यानि केंद्रीय कर्र्मचारियों को डबल फायदा होगा।

फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने कहा है कि राष्‍ट्रपति ने 1 जुलाई 2021 से 28 फीसद DA को मंजूरी प्रदान कर दी है। कर्मचारियों और पेंशनरों को 1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 को बढ़े DA की रकम अगस्‍त से मिलने लगेगी। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री का आदेश आने के बाद Indian Railways के एक्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर पे कमिशन II एमके गुप्‍ता ने अपने यहां इसे लागू करने का निर्देश दिया है। साथ ही Department of Post के असिस्‍टेंड डायरेक्‍टर जनरल डीके त्रिपाठी ने भी सभी सर्किल में इसे लागू करने को कहा है। इसी तरह अंडर सेक्रेटरी शमसुल हक ने भी तमाम CPSE में 7वां वेतनमान के तहत Salary पा रहे कर्मचारियों का DA 17 फीसद से 28 फीसद करने का आदेश दिया है।

हाउस रेंट में भी इजाफा

सरकार ने DA बढ़ाने के बाद House Rent Allowance (HRA) भी रिवाइज किया है। HRA इसलिए बढ़ाया गया क्‍योंकि DA 25 फीसद का मार्क पार कर गया है।

कितना बढ़ा HRA

फाइनेंस मिनिस्‍ट्री के आदेश के मुताबिक अब केंद्रीय कर्मचारियों को उनके शहर के हिसाब से 27 फीसद, 18 फीसद और 9 फीसद हाउस रेंट अलाउंट मिलेगा। ये क्‍लासिफिकेशन X, Y और Z class शहरों के हिसाब से है। यानि जो केंद्रीय कर्मचारी X Class City में रहता है उसे अब ज्‍यादा HRA मिलेगा। इसके बाद Y Class और फिर Z Class वाले को।


पहले कितना मिल रहा था HRA

ऑल इंडिया ऑडिट एंड अकाउंट्स एसोसिएशन के असिस्‍टेंट सेक्रेटरी जनरल हरीशंकर तिवारी ने बताया कि 7th Pay Commission में HRA का तरीका बदल गया है। इसकी 3 कैटेगरी-X,Y और Z बनाई गई है। शहर के हिसाब से कर्मचारियों को पहले 24 फीसद, 18 फीसद और 9 फीसद HRA मिल रहा था। उस समय तय हुआ था कि जब DA 25 फीसद का मार्क क्रॉस करेगा तो इसे रिवाइज किया जाएगा।


निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 45 फीसद की बढ़ोतरी

निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 45 फीसद की बढ़ोतरी

चालू वित्त वर्ष में निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में वस्तुओं के निर्यात में पिछले वर्ष समान अवधि के मुकाबले 45.13 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई। वर्ष 2019 की समान अवधि के मुकाबले यह बढ़ोतरी 25.42 फीसद की है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून, 2021) में 95.39 अरब डालर का निर्यात किया गया जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 85 फीसद और वर्ष 2019 की समान अवधि के मुकाबले 17.90 फीसद अधिक है।

पिछले वर्ष अप्रैल-जून में 51.32 अरब डालर का निर्यात किया गया, जो वर्ष 2019 के अप्रैल-जून में 80.91 अरब डालर का था। कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद अप्रैल से वस्तुओं के निर्यात में दहाई अंकों की बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है।वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक इस वर्ष जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह (21 जुलाई तक) में 22.48 अरब डालर का निर्यात किया गया जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में यह 15.49 अरब डालर का था। वर्ष 2019 के जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 17.92 अरब डालर का निर्यात हुआ था।

इस वर्ष समीक्षाधीन अवधि में आयात में पिछले वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 64.82 फीसद बढ़कर 31.77 अरब डालर पर पहुंच गया। वर्ष 2019 की समान अवधि में 25.77 अरब डालर का आयात किया गया था। वहीं, चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही का आयात पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले 108 फीसद बढ़कर 126.15 अरब डालर हो गया। चालू वित्त में तेजी को देखते हुए वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने 400 अरब डालर के निर्यात का लक्ष्य रखा है।