रेलवे ने आज फिर कैंसिल कीं 50 ट्रेनें, List में चेक कर ही निकलें घर से

रेलवे ने आज फिर कैंसिल कीं 50 ट्रेनें, List में चेक कर ही निकलें घर से

Indian Railways ने 21 जुलाई 2021 को 50 ट्रेनों का रूट बदल दिया है या फिर उन्‍हें Partially Cancel कर दिया है। Covid Mahamari के दौरान यात्रियों की सहूलियत के लिए कुछ Special Train चलाई गई हैं। हालांकि बीते साल मार्च से ही रेलवे ने नियमित ट्रेनों का संचालन बंद कर रखा है। वैसे सामान्‍य दिनों में Indian Railways रोजाना करीब 12,600 ट्रेनें चलाता था। इसमें 2 करोड़ से ज्‍यादा यात्री सफर करते थे।

इसलिए Cancel की ट्रेन

Indian railways समय-समय पर पटरियों और दूसरे मरम्‍मती कामों के कारण कई बार ट्रैफिक ब्लॉक करता है, जिससे ट्रेनों की आवाजाही बेहतर होती है। इसके लिए कुछ ट्रेनों को कैंसिल या उनका रूट बदलना पड़ता है। कभी कभार मरम्‍मती काम के कारण Train Time भी बदला जाता है। इन Train के बारे में रेलवे अपनी ट्रेन इनक्‍वायरी की वेबसाइट पर Cancel Train List भी जारी करता है। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत होती है। वे समय रहते अपनी यात्रा में रद्दोबदल कर सकते हैं।


Indian railways जिन ट्रेनों को कैंसिल करता है, उनकी जानकारी यात्रियों को दी जाती है। इसके लिए रेलवे स्टेशनों पर अनाउंसमेंट के जरिए भी बताया जाता है। Indian railways के इनक्‍वायरी नंबर 139 सर्विस पर SMS कर भी ट्रेनों का स्‍टेटस जाने सकते हैं। जिन ट्रेनों को कैंसिल किया गया है उनका टिकट रद्द कर पूरा रिफंड ले सकते हैं।


निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 45 फीसद की बढ़ोतरी

निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 45 फीसद की बढ़ोतरी

चालू वित्त वर्ष में निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में वस्तुओं के निर्यात में पिछले वर्ष समान अवधि के मुकाबले 45.13 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई। वर्ष 2019 की समान अवधि के मुकाबले यह बढ़ोतरी 25.42 फीसद की है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून, 2021) में 95.39 अरब डालर का निर्यात किया गया जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 85 फीसद और वर्ष 2019 की समान अवधि के मुकाबले 17.90 फीसद अधिक है।

पिछले वर्ष अप्रैल-जून में 51.32 अरब डालर का निर्यात किया गया, जो वर्ष 2019 के अप्रैल-जून में 80.91 अरब डालर का था। कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद अप्रैल से वस्तुओं के निर्यात में दहाई अंकों की बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है।वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक इस वर्ष जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह (21 जुलाई तक) में 22.48 अरब डालर का निर्यात किया गया जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में यह 15.49 अरब डालर का था। वर्ष 2019 के जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 17.92 अरब डालर का निर्यात हुआ था।

इस वर्ष समीक्षाधीन अवधि में आयात में पिछले वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 64.82 फीसद बढ़कर 31.77 अरब डालर पर पहुंच गया। वर्ष 2019 की समान अवधि में 25.77 अरब डालर का आयात किया गया था। वहीं, चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही का आयात पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले 108 फीसद बढ़कर 126.15 अरब डालर हो गया। चालू वित्त में तेजी को देखते हुए वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने 400 अरब डालर के निर्यात का लक्ष्य रखा है।