2022 में धनवान बनना है तो, यहां देखें पैसे कमाने के बेहतरीन विकल्पों की सूची

2022 में धनवान बनना है तो, यहां देखें पैसे कमाने के बेहतरीन विकल्पों की सूची

साल 2021 कोविड महामारी के कारण उथल-पुथल भरा रहा. लेकिन कोविड-19 वायरस के कहर का शेयर बाजारों पर प्रभाव कुछ खास नहीं पड़ा. वास्तव में, 2021 वित्तीय बाजारों के लिए एक अच्छा साल था. म्युचुअल फंड निवेशक 2021 में अपने निवेश से बहुत खुश थे.

बीएसई सेंसेक्स ने इस वर्ष पहली बार 50,000 का आंकड़ा तोड़ इतिहास रच दिया. यह ब्लॉकबस्टर आईपीओ का वर्ष भी रहा. जैसे ही हम नए वर्ष (2022) में प्रवेश कर रहे हैं. जानकार इन विकल्पों की सूची बनाते हैं जो निवेशक को 2022 में अधिक पैसा बनाने के लिए सहायता कर सकते हैं.


1. क्रिप्टोकरेंसी:
वर्तमान परिदृश्य में क्रिप्टोकरेंसी तेजी से बढ़ते निवेश क्षेत्रों में से एक है, वे डिजिटल मुद्राएं हैं जिनकी कोई भौतिक उपस्थिति नहीं है. वे क्रिप्टो माइनिंग के साथ-साथ सबसे बड़े निवेशों में से एक साबित हुए हैं, क्योंकि तकनीक में शामिल होना जारी है, ऐसा माना जाता है कि क्रिप्टोकरेंसी एक निवेश विकल्प के रूप में पारंपरिक संपत्ति से आगे निकल सकती है. प्रोफिशिएंट इक्विटीज लिमिटेड के फाउंडर और डायरेक्टर-मनोज डालमिया का बोलना है कि बिटकॉइन, एथेरियम, डॉगकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी ने हाल के दिनों में भारी रिटर्न दिया है और 2022 में इसका स्कोप अच्छा हो सकता है.

2. स्टॉक:
डॉ रवि सिंह-वाइस प्रेसिडेंट और हेड ऑफ रिसर्च-शेयर इंडिया कहते हैं कि आनें वाले साल 2022 के लिए शीर्ष पांच शेयर बहुत ज्यादा बेहतर साबित हो सकते हैं. जिसमें पीएसयू ऋणदाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई), गेल, एचडीएफसी बैंक, टीसीएस और ओएनजीसी शामिल हैं.

3. रीयल एस्टेट:
प्रोफिशिएंट इक्विटीज लिमिटेड के संस्थापक और निदेशक मनोज डालमिया, कहते हैं. रीयल एस्टेट आज तक सबसे सदाबहार निवेश विकल्पों में से एक हैं, आने वाले दिनों में रियल एस्टेट में तेजी के साथ, पूंजी छोटी होने पर कोई REIT’s की विकल्प देख सकता है.

4. को-वर्किंग स्पेस:
कोविड ने वाणिज्यिक अचल संपत्ति को बहुत प्रभावित किया है. जिससे संपत्ति की दरें अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई हैं. परिदृश्य को देखते हुए, 2022 में निवेश को चैनल करने का एक बेहतर उपाय ऐसी वाणिज्यिक संपत्ति खरीदना और इसे सह-कार्यस्थल में परिवर्तित करना है. सह-कार्य समय की जरूरत है क्योंकि इसमें कोई निश्चित शुल्क शामिल नहीं है और अधिकतर ऑफिस इसे अपनाने के बारे में सोच रहे हैं. जैसे-जैसे सह-कार्यस्थलों की मांग संभावित रूप से बढ़ती है, आप ऑफिस की स्थान खरीदने पर विचार कर सकते हैं और अन्य निवेशों की तुलना में इसे सह-कार्यस्थल के रूप में किराए पर लेकर अधिकतम फायदा अर्जित करने का लक्ष्य रख सकते हैं, नकुल माथुर, प्रबंध निदेशक- अवंता इंडिया कहते हैं

5. मेटावर्स में वर्चुअल एसेट्स:
मनोज डालमिया, संस्थापक और निदेशक-प्रोफिशिएंट इक्विटीज लिमिटेड का बोलना है कि मेटावर्स हाल ही में एक प्रचार रहा है, जहां लोग आभासी दुनिया (मेटावर्स) पर आभासी संपत्ति खरीद सकते हैं, यहां तक कि लाखों US डॉलर में बेच सकते हैं. इसके अतिरिक्त भूमि, मूर्तियों, पार्कों के भूखंड भी शामिल हैं.

6. नेशनल पेंशन स्कीम (NPS):
एनपीएस हिंदुस्तान सरकार द्वारा सभी ग्राहकों को सेवानिवृत्ति के बाद नियमित आय की सुविधा के लिए प्रारम्भ की गई एक सेवानिवृत्ति फायदा योजना है. इसमें आप जब तक 60 वर्ष के नहीं हो जाते पैसे निकालने की इजाज़त नहीं है और 60 वर्ष के होने के बाद भी जमा राशि का 60 परसेंट ही निकाल पाएंगे बाकि 40 परसेंट से पेंशन प्लान खरीदना जरूरी है जो आपको पेंशन का पे-आउट देगा. कर के मुद्दे में सेक्शन 80C के अनुसार 1.5 लाख रुपए तक की छूट और सेक्शन 80CCD के ज़रिए 50,000 रुपए की अलावा छूट मिलती है.
यह भी
7. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS):
SCSS वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक डाकघर बचत योजना है जो अपने निवेशकों को सुरक्षा और नियमित आय प्रदान करती है. यह एक कर सेविंग प्लान भी है. डॉ रवि सिंह- उपाध्यक्ष और अनुसंधान प्रमुख शेयर इंडिया कहते हैं. यह बचत खाता बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवा सकते हैं. इस एकाउंट में जमा रकम पर 80C के अनुसार इनकम टैक्‍स की छूट ली जा सकती है. इसमें अधिकतम सालाना 1.5 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. वैसे 7.4 प्रतिशत सालाना ब्याज का प्रावधान है.


सावधान! Jio यूजर्स के बैंक खातों में सेंध लगा रहे साइबर क्रिमिनल्स, यहां जाने कैसे करें बचाव?

सावधान! Jio यूजर्स के बैंक खातों में सेंध लगा रहे साइबर क्रिमिनल्स, यहां जाने कैसे करें बचाव?

Jio Scam Alert :देश में साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud) के मुद्दे तेजी से बढ़ रहे हैं। साइबर क्रिमिनल्स (Cyber Criminals) रोज भिन्न-भिन्न उपायों से लोगों के बैंक खातों (Bank Account) में सेंध लगा रहे हैं।

कभी बैंक ऑफिसर बनकर केवाईसी (KYC) के नाम पर तो कभी नौकरी (Job) के नाम पर। पिछले कुछ दिनों से ठग जियो (Jio) के कस्टमर को e-KYC के नाम पर चूना लगा रहे हैं। इस तरह के कई मुद्दे सामने आ चुके हैं। लगातार मिलती शिकायतों के बाद रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने अब अपने ग्राहकों को एक अलर्ट जारी किया है। इसमें इस तरह के फ्रॉड (Fraud) से बचने के टिप्स भी दिए गए हैं। आइए जानते हैं किस तरह हो रही है जियो कस्टमर से ठगी और इससे कैसे बच सकते हैं।

इस तरह हो रही है ठगी

अभी तक ठगी के कई ऐसे केस सामने आए हैं, जिनमें यूजर्स के पास एक कॉल (Call) आती है और कॉल करने वाला स्वयं को जियो का एग्जिक्यूटिव बताता है। वह e-KYC न कराने पर सिम (Sim) बंद होने की बात कहता है। कॉल करने वाला घर बैठे औनलाइन ही केवाईसी (Online KYC) करने का झांसा देता है। इसके बाद वह लिंक (Link) भेजकर, रिमोट ऐप (Remote App) डाउनलोड कराके या फिर ओटीपी (OTP) के जरिए यूजर्स के बैंक एकाउंट (Bank Account) में सेंध लगा देता है।

इस तरह कर सकते हैं बचाव

इस तरह की ठगी से बचने के लिए सतर्कता महत्वपूर्ण है। रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने भी इस विषय में कस्टमर्स को चेतावनी देते हुए कुछ टिप्स भी दिए हैं।

1. e-KYC के झांसे में न आएं

ग्राहकों को अलर्ट जारी करते हुए जियो ने बोला है कि e-KYC वैरिफिकेशन (Verification) के लिए आने वाले किसी भी कॉल (Call) या मैसेज (Message) पर ध्यान न दें। इस तरह के कॉल या मैसेज में आपको एक नंबर पर कॉल करने के लिए बोला जाता है और इसके बाद आपको झांसे में लेकर ठगी की जाती है। ऐसे में इस तरह केवाईसी (KYC) के चक्कर में न पड़ें। यदि केवाईसी करानी है तो जियो स्टोर (Jio Store Near Me) पर ही जाएं।

2. KYC के लिए कोई भी ऐप न करें डाउनलोड

ठग पहले आपको भरोसे में लेते हैं और फिर KYC अपडेट करने के बहाने आपसे एक ऐप डाउनलोड (App Download) करने को कहते हैं। यह रिमोट ऐप (Remote App) होता है, जिससे आपके फोन का एक्सेस उन्हें मिल जाता है और फिर वह रुपये ट्रांसफर कर लेते हैं। इसलिए यदि ऐसी कोई भी कॉल आए और आपसे ऐप डाउनलोड करने को बोला जाए तो उसे नजरअंदाज करें।

3. कॉल पर किसी को भी न दें पर्सनल और महत्वपूर्ण जानकारी

रिलायंस (Reliance) ने अपने कस्टमर से ये भी अपील की है कि वे अपनी पर्सनल और महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आधार नंबर (Adhar), ओटीपी (OTP), बैंक एकाउंट नंबर (Bank Account) आदि को किसी से भी शेयर न करें। इस तरह के कई केस आए हैं जिनमें ठगों ने स्वयं को जियो का कस्टमर केयर ऑफिसर बताकर ऐसी डिटेल्स लेकर ठगी की है।

4. कनेक्शन बंद होने के झांसे में न आएं

कंपनी ने ये भी बोला है कि यदि आपके पास आपका नंबर बंद होने के विषय में कोई कॉल या मैसेज आए तो सावधान होने की आवश्यकता है। ऐसे मैसेज में यदि किसी नंबर का जिक्र हो और उस पर कॉल करने को बोला जाए तो समझ लीजिए कि वह फ्रॉड (Fraud) है। इस तरह सिम (SIM) बंद नहीं होता, यदि सिम बंद भी हो जाता है तो आप जियो सर्विस पॉइंट पर जाकर उसे सक्रिय ेट (SIM Activate) करा सकते हैं।

5. किसी अनजान लिंक पर क्लिक न करें

जियो ने ग्राहकों से किसी अनजान लिंक (Link) पर क्लिक (Click) न करने की भी अपील की है। इस तरह के लिंक e-KYC के नाम पर भेजे जाते हैं। इसमें कस्टमर से बोला जाता है कि आपको लिंक पर क्लिक करके घर बैठे केवाईसी (KYC) की सुविधा मिल जाएगी। कंपनी का बोलना है कि कंपनी या उसके ऑफिसर कभी भी कस्टमर्स को My JIo ऐप के अतिरिक्त किसी अन्य थर्ड पार्टी ऐप को डाउनलोड करने के लिए नहीं कहेगा।