दो और IPO बाजार में हिट होने को तैयार, जानिए glenmark Life औैर Devyani International की डिटेल

दो और IPO बाजार में हिट होने को तैयार, जानिए glenmark Life औैर Devyani International की डिटेल

Share बाजार में दो और कंपनियों के IPO आ रहे हैं। इनमें ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स की सब्सीडियरी कंपनी ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज और Pizza Hut और KFC की operator Devyani International शामिल है। Glenmark Life Sciences का आईपीओ 27 से 29 जुलाई तक खुलेगा। हालांकि कंपनी ने IPO का साइज घटा दिया गया है। अब कंपनी 1060 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी। वहीं 63 लाख इक्विटी शेयरों के लिए ऑफर फॉर सेल ( OFS) लाया जाएगा। ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज ने 19 जुलाई को रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस जमा किया था।

Glenmark Life Sciences के IPO के लिए 26 जुलाई को एंकर निवेशक बोली लगाएंगे। IPO की लिस्टिंग 6 अगस्त, 2021 को हो सकती है। कंपनी ने पहले कहा था कि 1160 करोड़ रुपये के नए शेयर आएंगे और 73.05 लाख शेयरों के लिए OFS लाया जाएगा।

क्‍या है भावी योजना


IPO की संख्या और रकम के लिहाज से साल 2021 बहुत अच्छा रहा है। इस साल आए ज्यादातर आईपीओ को निवेशकों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। कई कंपनियों के आईपीओ ने निवेशकों को तुरंत अच्छी कमाई करने का भी मौका दिया है। ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज July 2021 का पांचवां आईपीओ होगा। इससे पहले क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी, जीआर इन्फ्राप्रोजेक्ट्स, जोमाटो, तत्व चिंतन फार्मा और ग्लैंड फार्मा के आईपीओ आ चुके हैं. ये सभी फार्मा सेक्टर के आईपीओ हैं।

Devyani International को इजाजत

उधर, KFC और Pizza Hut की सहायक कंपनी Devyani International भी आईपीओ लाएगी। उसे IPO के लिए बाजार नियामक SEBI की इजाजत मिल गई है। Devyani International पिज्जा हट, केएफसी और कोस्टा कॉफी की देश में सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी है। कंपनी आईपीओ से 1,400 करोड़ रुपये जुटाएगी।

400 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर जारी होंगे

दस्तावेजों के मसौदे के अनुसार, IPO के तहत 400 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे। इसके अलावा प्रवर्तक और मौजूदा शेयरधारक 12,53,33,330 इक्विटी शेयरों की बिक्री ओएफएस (OFS) के तहत करेंगे।

मई में दिए दस्‍तावेज

Devyani International ने सेबी के पास मई में आईपीओ के लिए शुरुआती दस्तावेज जमा कराए थे। इस पर सेबी का निष्कर्ष 16 जुलाई को हासिल हुआ है। किसी कंपनी के लिए IPO, अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (FPO) और राइट्स इश्यू के लिए सेबी का निष्कर्ष जरूरी होता है। मर्चेंट बैंकिंग सूत्रों ने कहा कि IPO से 1,400 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है।


निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 45 फीसद की बढ़ोतरी

निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 45 फीसद की बढ़ोतरी

चालू वित्त वर्ष में निर्यात में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में वस्तुओं के निर्यात में पिछले वर्ष समान अवधि के मुकाबले 45.13 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई। वर्ष 2019 की समान अवधि के मुकाबले यह बढ़ोतरी 25.42 फीसद की है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून, 2021) में 95.39 अरब डालर का निर्यात किया गया जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 85 फीसद और वर्ष 2019 की समान अवधि के मुकाबले 17.90 फीसद अधिक है।

पिछले वर्ष अप्रैल-जून में 51.32 अरब डालर का निर्यात किया गया, जो वर्ष 2019 के अप्रैल-जून में 80.91 अरब डालर का था। कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद अप्रैल से वस्तुओं के निर्यात में दहाई अंकों की बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है।वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक इस वर्ष जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह (21 जुलाई तक) में 22.48 अरब डालर का निर्यात किया गया जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में यह 15.49 अरब डालर का था। वर्ष 2019 के जुलाई के शुरुआती तीन सप्ताह में 17.92 अरब डालर का निर्यात हुआ था।

इस वर्ष समीक्षाधीन अवधि में आयात में पिछले वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 64.82 फीसद बढ़कर 31.77 अरब डालर पर पहुंच गया। वर्ष 2019 की समान अवधि में 25.77 अरब डालर का आयात किया गया था। वहीं, चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही का आयात पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले 108 फीसद बढ़कर 126.15 अरब डालर हो गया। चालू वित्त में तेजी को देखते हुए वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने 400 अरब डालर के निर्यात का लक्ष्य रखा है।